दैनिक भास्कर हिंदी: ओबीसी जनगणना को लेकर आक्रामक होगी राकांपा

March 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  ओबीसी जनगणना के मामले को लेकर राकांपा आक्रामक भूमिका अपनाएगी। दिल्ली में बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा। उसके बाद राज्य में जिला स्तर पर प्रदर्शन होगा। इस प्रदर्शन में गैरराजनीतिक संगठनों का भी साथ लिया जाएगा। साथ ही सर्वदलीय नेताओं का समर्थन जुटाने का प्रयास किया जाएगा। समता परिषद के अध्यक्ष व राज्य सरकार के मंत्री छगन भुजबल के नेतृत्व में आंदोलन  किया जाएगा। 

राकांपा और कांग्रेस बना रही मुद्दा
राकांपा की तैयारी को देखते हुए कांग्रेस के नेताओं ने भी इस मामले में रणनीतिक कदम बढ़ाना शुरु किया है। भुजबल दो दिन तक विदर्भ में थे। उन्होंने नागपुर में कार्यकर्ताओं से चर्चा की ।  भंडारा जिले मेंउन्होंने ओबीसी सम्मेलन को संबोधित भी किया। गौरतलब है कि जनगणना 2021 की शुरुआत होने लगी है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से कहा है कि जनगणना में ओबीसी गणना न करने दें।

इस मामले को राकांपा व कांग्रस मुद्दा बना रही है। कांग्रेस नेता व विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने तो इस मामले पर खुलकर बयानबाजी शुरु कर दी है। उन्होंने सभा के माध्यम से आव्हान किया है कि ओबीसी गणना की मांग को लेकर समाज को प्रदर्शनकारी भूमिका अपनाना होगा। राहत व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने भी ओबीसी गणना का मामला उठाया है। इस पूरे मामले में मंत्री छगन भुजबल सबसे अधिक आक्रामक भूमिका अपनाने की तैयारी में है। राकांपा के एक नेता के अनुसार राजनीतिक मामले में राकांपा ओबीसी के करीब नजर आती रही है।

ओबीसी के सहयोग से बढ़ेगी ताकत
मंडल आयोग की रिपोर्ट का समर्थन करनेवाले नेताओं में शरद पवार का प्रमुख स्थान रहा है। ओबीसी समाज को न्याय की मांग के साथ ही छगन भुजबल शिवसेना से राकांपा में आए थे। समता परिषद नामक गैर राजनीतिक संगठन के माध्यम से वे ओबीसी न्याय का आंदोलन करते रहे हैं। ऐसे में भुजबल को आगे रखकर राकांपा प्रदर्शनकारी भूमिका के माध्यम से ओबीसी के सहयोग से अपनी ताकत बढ़ा सकती है। भुजबल ने कार्यकर्ताओं को नागपुर में संकेत दिया है कि दिल्ली के जंतर मंतर से आंदोलन की शुरुआत की जाएगी। 

फिलहाल दिल्ली में कानून व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए जंतर मंतर पर आंदोलन की अनुमति मिलना मुश्किल है। लिहाजा कुछ समय इंतजार करने को कहा गया है। राज्य में विधानमंडल का बजट अधिवेशन चल रहा है। इस अधिवेशन के बाद राकांपा का ओबीसी आंदोलन तेज हो जाएगा। राकांपा ओबीसी सेल के प्रदेश अध्यक्ष ईश्वर बालबुधे ने चर्चा में कहा है कि ओबीसी गणना की मांग को लेकर उनकी पार्टी आंदोलनकारी रणनीति पर विचार कर रही है। जल्द ही पूरी योजना  के साथ कार्यकर्ता प्रदर्शन शुरु करेंगे।