comScore

गजब लापरवाही : एक छात्रा को दो अंकसूची, दोनों में अंक भी अलग-अलग

गजब लापरवाही : एक छात्रा को दो अंकसूची, दोनों में अंक भी अलग-अलग

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राज्य माध्यमिक शिक्षा मंडल के कक्षा दसवीं के हाल में घोषित नतीजों में शहर की एक शाला की एक छात्रा को दो अलग-अलग अंकसूची मिलने से मंडल की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में आ गई है। उल्लेखनीय है कि, दोनों अंकसूची पर नाम और बैठक क्रमांक एक ही है, लेकिन प्रत्येक विषय के लिए मिले अंक अलग-अलग मिलने से शाला प्रशासन भी हैरान है। लॉकडाउन के कारण इस बार शिक्षा मंडल के कक्षा 10वीं के नतीजे विलंब से आए हैं। ऐन परीक्षा के समय राज्य में कोरोना संक्रमण फैलने की शुरूआत हुई। दसवीं के अंतिम पेपर भी रद्द किए गए थे। लॉकडाउन के कारण अंकसूची भी परीक्षा केंद्र में अटकी थी। जिस कारण समय पर नतीजे घोषित करने की चुनौती शिक्षा मंडल के सामने थी। कम दिन में नतीजे तैयार करने के प्रयास में मंडल द्वारा अंकसूची तैयार में यह गड़बड़ी सामने आ रही है।  

शहर में एक छात्रा ने बैठक क्रमांक की मदद से ऑनलाइन नतीजे ढूंढने पर उसे सभी छह विषयों में 35 अंक मिलने की जानकारी सामने आई। जिससे वह हैरान थी। सभी विषयों में एक समान अंक मिलना असंभव है। उसने स्कूल से संपर्क किया। फिर बैठक क्रमांक डालकर अंकसूची देखी तो इस दौरान अलग अंकसूची हाथ लगी। अंकसूची देख शिक्षक भी हैरान थे। दोनों अंकसूचियों में नाम और बैठक क्रमांक एक समान है, लेकिन उसे मिले सभी छह विषयों के अंक में काफी बड़ा अंतर है। छात्रा के भविष्य के मद्देनजर अत्यंत महत्वपूर्ण दसवीं परीक्षा में अंकसूची में गड़बड़ी को लेकर शिक्षण विभाग कटघरे में है। 

जांच की जाएगी

रविकांत देशपांडे, सचिव, विभागीय शिक्षण मंडल के मुताबिक ऐसी कोई भी तकनीकी गड़बड़ी होने पर स्कूल हमसे लिखित शिकायत करें। उसकी उचित जांच की जाएगी। विद्यार्थियों का कोई भी नुकसान नहीं होगा। 

कमेंट करें
LPZBa