हद हो गई! : कोरोना वैक्सिन की जगह लगा दिया रेबीज इंजेक्शन

September 29th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना का टीका लगाने पहुंचे एक 45 वर्षीय व्यक्ति को नर्स और डॉक्टर की लापरवाही के चलते रेबीज से बचाव का इंजेक्शन लगा दिया गया। रेबीज का टीका कुत्ता काटने पर बचाव के लिए लगाया जाता है। मामला ठाणे जिले के कलवा इलाके में स्थित एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का है। लापरवाही का खुलासा होते ही ठाणे महानगर पालिका ने वहां तैनात डॉक्टर और नर्स को निलंबित कर दिया। 

ठाणे मनपा के अतिरिक्त आयुक्त संदीप मालवी ने बताया कि मामले में लापरवाही कैसे हुई इसकी जांच की जाएगी तब तक सेंटर पर तैनात डॉक्टर और नर्स को निलंबित कर दिया गया है। जिस व्यक्ति को गलत टीका लगाया गया है उसे निगरानी में रखा गया है फिलहाल उसकी हालत ठीक है। ठाणे महानगर पालिका ने अटकोणेश्वर नगर में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में राजकुमार यादव नामक व्यक्ति कोरोना का टीका लगवाने पहुंचा था। लेकिन यादव कोरोना का टीका लगाने के लिए लगी कतार में खड़े होने की जगह उस कतार में खड़ा हो गया जहां रेबीज से बचाव का इंजेक्शन लग रहा था। वहां तैनात नर्स कीर्ति रायत ने भी केस पेपर देखे बिना यादव को रेबीज का टीका लगा दिया। लेकिन टीका लगने के बाद जब यादव ने टीके के प्रमाणपत्र की मांग की तो टीकाकरण केंद्र में तैनात कर्मचारियों को गड़बड़ी का एहसास हुआ। 

यादव के मुताबिक कुछ दिनों पहले उसका ऑपरेशन हुआ था इसलिए वह सिर्फ यह पूछने गया था कि क्या वह कोरोना से बचाव का टीका ले सकता है। डॉक्टर ने हामी भरी और उसे कतार में खड़े होने को कहा। यादव को कमजोरी महसूस हो रही थी इसलिए वह बैठने की जगह खोज रहा था। अस्पताल के एक कर्मचारी ने उसे उस कमरे में बैठने को कहा जहां रेबीज का इंजेक्शन लगाने के लिए आए लोग बैठे थे। इसी कतार में यादव का नंबर आने पर बिना केस पेपर देखे टीका लगा दिया गया।     
 

खबरें और भी हैं...