comScore

सीमेंट रोड की गुणवत्ता व काम को लेकर नहीं मिली एक भी शिकायत -मनपा

सीमेंट रोड की गुणवत्ता व काम को लेकर नहीं मिली एक भी शिकायत -मनपा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में करोड़ों की लागत से सीमेंट रास्तों का निर्माण हुआ और कई जगह अभी भी सीमेंट रास्तों का काम जारी है। रास्तों की गुणवत्ता को लेकर कई बार विवाद भी उठे हैं। दूसरी ओर आरटीआई में सीमेंट रास्तों को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। सीमेंट रास्तों की गुणवत्ता व काम को लेकर कोई शिकायत नहीं होने का खुलासा मनपा की तरफ से किया गया है। 

शहर में बड़े पैमाने पर सीमेंट रास्तों का जाल बिछाने का काम जारी है। सीमेंट रास्तों पर पड़ी दरार व सीमेंट उखड़ने को लेकर कई बार विवाद हुए। मनपा की देख-रेख में प्रोजेक्ट 2 के तहत कई पैकेजों में सीमेंट रास्तों का काम जारी है। मनपा की तरफ से अभी तक किसी भी कांट्रैक्टर को काली सूची में नहीं डाला गया। कोई ठेकेदार काम छोड़कर भी नहीं भागा है। सीमेंट रास्तों का काम अधूरा छोड़ने को लेकर किसी ठेकेदार पर एक्शन लेने की नौबत मनपा पर नहीं आई है। अनुचित या अनियमित काम को लेकर किसी ठेकेदार की शिकायत मनपा के पास नहीं पहुंची। जो रास्ते अधूरे हैं, वह वर्क इन प्रोग्रेस में होने की सफाई मनपा की तरफ से दी गई है। शहर में प्रोजेक्ट 2 के तहत जितने भी पैकेजों में सीमेंट रास्तों का काम हो रहा है, उससे मनपा जबरदस्त संतुष्ट होने की बात आरटीआई में सामने आई है। 

मनपा के जवाब से हैरान हूं
सीमेंट रास्तों की गुणवत्ता व काम में लापरवाही को लेकर कई लोगों ने शिकायतें की थी। जनमंच नामक संस्था ने भी शिकायत की थी। मनपा के जवाब से मैं खुद हैरान हूं। ठेकेदारों पर एक्शन नहीं लेना समझा जा सकता है, लेकिन कोई शिकायत नहीं, काम में कोई अनियमितता नहीं, सभी काम वर्क इन प्रोग्रेस होने का दावा अप्रत्याशित है।  -अभय कोलारकर, आरटीआई एक्टिविस्ट नागपुर. 

मनपा ने पाटे 11506 गड्ढे 
1 अप्रैल से 24 अक्टूबर तक मनपा की तरफ से 11506 गड्ढे भरने का दावा किया गया है।  गड्ढों की शिकायत करने के लिए आॅनलाइन व्यवस्था की गई है। सभी दस जोन में रास्तों की दयनीय अवस्था हो गई है। 8960 छोटे-बड़े गड्ढे पाटे गए। करीब 2546 गड्ढे जेट पैचर से बुझाए गए।  लगभग 32936.92 वर्ग मीटर क्षेत्र मंे ये गड्ढे थे।   1 सितंबर से 24 अक्टूबर तक 73250.8 वर्गमीटर पर लगभग 2942 गड्ढे बुझाए गए। 20 सितंबर से 23 अक्टूबर तक जेट पॅचर मशीन से 454 गड्ढे बुझाए गए। 

इन मार्गों पर हुई मरम्मत 
आकाशवाणी चौक से काटोल नाका मार्ग के 33, क्रीड़ा संकुल से पागलखाना चौक मार्ग के  13, मोक्षधाम से बस स्टॉप मार्ग 23, मानस चौक से कॉटन मार्केट 43, भांड़ेवाड़ी से बिदामल मार्ग 45, लोहा पुल के पास 14, खामला परिसर में 17, जयप्रकाश नगर परिसर 25, वीसीए चौक से हाईकोर्ट मार्ग 12, वाठोड़ा रिंग रोड से चांदमारी मार्ग 21, मेयो हॉस्पिटल परिसर 17, बस स्टॉप से डालडा कंपनी मार्ग 24, बड़ा ताजबाग परिसर 40, नंदनवन सीमेंट रोड से जगनाड़े चौक मार्ग 81, मेहंदीबाग सिमरन हॉस्पिटल मार्ग 20, अजनी परिसर 81,  इंदोरा चौक 41, प्रतापनगर चौक 25, उच्च न्यायालय से जपानी गार्डन मार्ग 18, कॉफी हाउस चौक 20, मानकापुर फरस से गोधनी रोड 23, तुकड़ोजी पुतला से वंजारीनगर मार्ग 43, एलएडी चौक 30, एलएडी चौक से जपानी गार्डन मार्ग 40, तपोवन, गोविंदनगर परिसर 36 शामिल है।
 

कमेंट करें
BAPXN