comScore

कोरोना से निपटने अब क्राउड फंडिंग का सहारा, मुख्यमंत्री ने की वेबसाईट लांच

कोरोना से निपटने अब क्राउड फंडिंग का सहारा, मुख्यमंत्री ने की वेबसाईट लांच

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बढ़ते लॉक डाउन के बीच जरुरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए अब क्राउड फंडिंंग का सहारा लिया जाएगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार को इसके लिए एक वेबसाईट www.milkar.org शुरु की गई है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि साधन-सपन्न लोग जरुरतमंदों के लिए आगे आएं। मंगलवार को मुख्यमंत्री ठाकरे ने इस वेबसाईट का शुभारम्भ किया। मुंबई मनपा, कोरपोरेट हाऊस व स्वंयसेवी संस्थानों ने मिलकर यह मंच तैयार किया है। इस मंच के माध्यम से जरुरतमंदो को भोजन उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी। गोदरेज एंज बॉयसी, आरपीजी फाऊंडेशन, एटीई चंद्रा फाऊंडेशन आर्थिक मदद उपलब्ध कराएंगे। दान में मिली राशि का पांच गुना संबंधित वार्ड के लोगों के भोजन के लिए दिया जाएगा। उद्घाटन के मौके पर पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे सहित विभिन्न कॉर्पोरेट हाऊस के प्रतिनिधी, स्वंयसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधी आर.पी.जी फाउंडेशन के राधा गोयनका, अक्षय गुप्ता, केटू के कुणाल कपुर, अनंत गोयनका भी मौजूद थे।  

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ जगहों पर लॉकडाउन चालू-बंद की स्थिति में है। ऐसा होता रहेगा। इस लिए मन से डर निकाल कर लोगों की मदद के लिए आगे आएं। जब तक कोरोना का प्रकोप खत्म नहीं हो जाता यह काम शुरु रखना होगा। पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने विश्वास जताया कि इस वेबसाईट के माध्यम से जरुरतमंदों तक राशन किट पहुंचाया जा सकेगा।  

क्या है ‘मिलकर’?

‘मिलकर’ एक ऐसा मंच है जो जरुरतमंदों को साधन-सपन्न लोगों से जोड़ने का काम करेगा। इसके तहत मुंबई मनपा, एनजीओ, कॉरपोरेट हाऊस मिलकर भूखों को भोजन उपलब्ध कराएंगे। इसमें जितनी रकम दान में मिलेगी उसका पांच गुना कारपोरेट हाऊस अपनी तरफ से उपलब्ध कराएंगे। इसमें चाईल्ड राईटस ॲण्ड यू (क्राई), चाईल्ड हूड टू लाईव्हहूड, अक्षयपात्र, सलाम मुंबई व फ्रॉम यू टू देम’ जैसे एनजीओ सहभागी होंगे। दानदाता अपनी इच्छानुसार वार्ड का चयन कर दान कर सकेंगे। उस वार्ड में काम करने वाले एनजीओ के माध्यम से जरुरतमंदों तक राशन किट पहुंचाया जाएगा। 

 
  

कमेंट करें
rqILH