नौसेना ने पुलिस से की शिकायत : फर्जी कैप्टन बन नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार 

August 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। खुद को नौसेना का कैप्टन बताकर युवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले एक आरोपी को ठाणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। फर्जीवाडे की सूचना मिलने के बाद नौसेना ने इसकी जानकारी अंबरनाथ की शिवाजी नगर पुलिस स्टेशन में दी थी। जिसके बाद एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपी का नाम समीर उर्फ जयेश चौहान है। सौरभ पांढरे नाम के 20 वर्षीय युवक ने मामले की शिकायत की। पांढरे एक सोसायटी में सुरक्षा रक्षक के तौर पर काम करता है। उसके साथ की काम करने वाले प्रवीण हजारे ने उससे कहा कि उसकी पहचान का एक व्यक्ति है जो नौसेना में कैप्टन के तौर पर काम करता है। वह लोगों की नेवल पुलिस सिक्योरिटी गार्ड के तौर पर नौकरी लगवा सकता है। इसके बाद पांढरे ने अपने चार और साथियों के साथ चौहान से मुलाकात की। चौहान ने नौकरी का वादा कर उन्हें मुंबई के कोलाबा में स्थित कुंजाली ऑफिस में बुलाया। वहां पहुंचने पर आरोपी ने दूसरे युवकों से कहा कि वहां परीक्षा चल रही है इसलिए वे लोग अंदर नहीं जा सकते। चौहान खुद अंदर गया वहां से पहचान पत्र और नियुक्ति पत्र लेकर बाहर निकला और सबको दिखाया और अपने पास रख लिया। फिर उसने ट्रेनिंग, वर्दी आदि के नाम पर 30-30 हजार रुपए मांगे। कुछ पैसे देने के बाद पांढरे को जानकारी मिली कि चौहान नौसेना का अधिकारी नहीं है और वह ठगी कर रहा है। इसके बाद उसने नौसेना कार्यालय में जाकर इस बारे में पूछताछ की तो पता चला कि वहां समीर चौहान नाम का कोई कैप्टन नहीं है। नौसेना के प्रवक्ता मेहुल कार्णिक ने बताया कि ठगी की जानकारी मिलने के बाद इसकी सूचना शिवाजी नगर पुलिस को दी गई। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।