comScore

बैंक में नौकरी के नाम पर छात्रा से ऑनलाइन धोखाधड़ी, लगी चपत

बैंक में नौकरी के नाम पर छात्रा से ऑनलाइन धोखाधड़ी, लगी चपत

डिजिटल डेस्क, नागपुर । बैंक में नौकरी लगाने के नाम पर छात्रा से ऑनलाइन धोखाधड़ी करने का मामला उजागर हुआ है। 82,455 रुपए की ठगी की गई है।  हुड़केश्वर थाने में आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। बरामद मोबाइल नंबर के आधार पर साइबर सेल की मदद से मामले को सुलझाने का प्रयास जारी है।  जानकारी के अनुसार अयोध्या नगर निवासी छात्रा अर्पिता विट्ठलराव अडासे (25) है। वह सीए की पढ़ाई कर रही है, उसके पिता वकील हैं। अर्पिता नौकरी की तलाश में है। इस कारन उसने अपना बायोडाटा वेबसाइट पर अपलोड किया था। 3 से 7 अक्टूबर 2019 के बीच अर्पिता को अलग-अलग तीन मोबाइल नंबरों से किसी ने फोन कर बताया कि उसकी नियुक्ति एक्सिस बैंक शिवाजी नगर नागपुर की शाखा में बतौर फायनांस एक्जीक्यूटिव पद के लिए हुई है। इस बीच फोनकर्ता ने अर्पिता को अपना बैंक खाता नंबर दिया। खाते में रजिस्ट्रेशन, डाक्युमेंट वेरिफिकेशन, पे-रोल रिपोर्ट आदि शुल्क जमा करने के लिए कहा था। झांसे में आई अर्पिता ने कुल 82 हजार 455 रुपए खाते में जमा कर दिए, परंतु उसे नौकरी नहीं मिली।  उल्टा और विविध शुल्क की मांग की जा रही थी। इससे उसे ठगे जाने का एहसास हो गया, जिससे रविवार को मामला थाने पहुंचा। जांच जारी है। 

आनलाइन वाहन खरीदना महंगा पड़ा
दाेपहिया वाहन खरीदी-बिक्री के आड़ मेें व्यक्ति को आॅनलाइन ठगने का मामला उजागर हुआ है।  हिंगना थाने में आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया। हिंगना स्थित इम्पीरियल सिटी, कोथेवाड़ा निवासी सुलभ कल्लूचंद जैन (26) है। उसे पुराना दोपहिया वाहन खरीदना था। उसने ओएलक्स पर ऑनलाइन वाहन देखना शुरू किया। 31 मई से 2 अक्टूबर-2019 के बीच में उसे विकास पटेल नामक व्यक्ति का वाहन पसंद आ गया। ओएलक्स पर विकास के अपने वाहन के साथ खुद का मोबाइल नंबर भी दिया था। विकास से सुलभ ने संकर्प किया। फोन पर उनका वाहन खरीदने का सौदा पक्का किया। विकास के कहने पर सुलभ ने उसे अपना आधार कार्ड, आर्मी ऑफिस के कैंटीन के कार्ड की फोटो भेज दी। गुगल पे के जरिए विकास के खाते में 35 हजार रुपए भी जमा िकए। रुपए मिलने के बाद विकास ने फोन उठाना ही बंद कर दिया। इससे सुलभ को ऑनलाइन वाहन खरीदना महं गा पड़ गया। प्रकरण दर्ज िकया गया है। जांच जारी है।

कमेंट करें
VhPio