SC/ST एक्ट का विरोध : सवर्ण नेताओं का बहिष्कार करेगा समाज - महापंचायत का फैसला

Oppose of SC-ST Act : Swarna Society announced to boycott of senior leaders
SC/ST एक्ट का विरोध : सवर्ण नेताओं का बहिष्कार करेगा समाज - महापंचायत का फैसला
SC/ST एक्ट का विरोध : सवर्ण नेताओं का बहिष्कार करेगा समाज - महापंचायत का फैसला

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केंद्र सरकार द्वारा एससी-एसटी एक्ट को लेकर विधेयक पारित करने के खिलाफ उत्तरभारत में शुरु आंदोलन का असर मुंबई और आसपास के इलाके में दिखाई दे रहा है। मुंबई से सटे मीरा रोड के शिवारगार्डेन में सर्व सवर्ण समाज द्वारा महापंचायत बुलायी गयी थी। बैठक में फैसला लिया गया कि सर्वण समाज सभी दलों के सवर्ण नेताओं का बहिष्कार करेगा। 

महापंचायत में वक्ताओं ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार इस कानून में संशोधन कर सर्वणों और दलितों को आपस में लड़ाना चाहती है। महापंचायत मे समाज के विभिन्न वर्गों के लोगो ने हिस्सा लिया। शिक्षा जगत से जुड़े जितेन्द्र प्रताप सिंह  ने कहा कि देश में बहुत से कानून है जिसमें बदलाव की जरुरत है, लेकिन मोदी सरकार उसमें बदलाव नहीं कर रही है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी इस कानून में संशोधन किया गया।

इस अवसर पर अखंड राजपूताना सेवा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरपी सिंह ने कहा कि पुरे देश के सवर्णो को इस काले कानून के प्रति जागृत किया जायेगा। साथ ही सभी सवर्ण सांसदों का घेराव कर उन्हे जगाया जायेगा।  शांति पूर्ण तरीके से मोर्चा निकालने पर भी सहमति बनी। सिंह ने कहा कि हमारा किसी सरकार से विरोध नहीं है हमारा विरोध इस काले कानून से है जिसके जरिये समाज के दो तबके को लड़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

इस अवसर पर क्षत्रीय महासभा के प्रभाकर सिंह बब्बू ने कहा कि ये हमारे बच्चों के भविष्य का सवाल है। दुसरों का नुकसान पहुंचाये बिना हम उनकी सुरक्षा चाहते हैं, इसलिये हम एससी एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध करते हैं। बैठक में अधिकांश लोगों ने नोटा अभियान को आगे बढ़ाने की बात कही। 

Created On :   4 Sep 2018 2:41 PM GMT

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story