दैनिक भास्कर हिंदी: लाभार्थी किसानों की पहली सूची में 15358 नाम, नागपुर के 289 किसान शामिल

February 24th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश सरकार की महात्मा ज्योतिबा फुले कर्ज मुक्ति योजना के तहत लाभार्थी किसानों की पहली सूची सोमवार को जारी कर दी गई। पहली सूची में राज्य के 15 हजार 358 किसानों का समावेश है। राज्य के 34 लाख 83 हजार 908 कर्जदार किसानों की जानकारी सरकार को मिली है। विधान भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कर्ज मुक्ति योजना के लाभार्थियों की सूची जारी की। कर्ज मुक्ति योजना को ऑनलाइन पद्धति से लागू किया जा रहा है। किसानों की मंजूरी के बाद कर्ज मुक्ति की राशि उनके बैंक खाते में जमा कराई जाएगी। किसानों के आधार कार्ड नंबर से प्रमाणीकरण करने के बाद उन्हें रसीद दी जाएगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने परभणी, अहमदनगर और अमरावती के कर्ज माफी का लाभ पाने वाले किसानों से वीडियो कॉन्फरेंसिंग के माध्यम से संवाद साधा। मुख्यमंत्री ने अमरावती के सुरेश कोटेकर, सरिता गाढवे, बाबाराव दामोदर और अहमदनगर के पोपट मुकटे से बातचीत की। कर्ज मुक्ति योजना का लाभ पाने वाले परभणी के पिंगली के विठ्ठलराव गरूड ने मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से बात करते हुए उन्हें अपने बेटी के विवाह समारोह में आने का निमंत्रण दिया। गरूड ने कहा कि साहब कर्ज मुक्ति की राशि बैंक खाता में जमा हो गई है। अब मुझे मेरी बेटी के विवाह की चिंता नहीं है। आप भी मेरे बेटी के विवाह में आइए। इस पर उपमुख्यमंत्री ने गरूड की बेटी और उनके होने वाले दामाद को विवाह की शुभकामनाएं दीं। 
 

50232 पात्र किसानों में अभी 289 किसानों के नाम

नागपुर जिले की बात करें तो किसान कर्जमुक्ति योजना के आधार प्रमाणीकरण के काम की शुरुआत सोमवार को कान्होलीबारा (हिंगणा) व धापेवाडा (कलमेश्वर) से हुई। जिला उपनिबंधक अजय कडू के हाथों आधार प्रमाणीकरण योजना का उद्घाटन हुआ। 50232 पात्र किसानों में अभी 289 किसानों के नाम जाहिर किए गए है। जिले के सभी पात्र किसानों का आधार प्रमाणिकर किया जाएगा आैर प्रमाणिकरण के बाद इनकी सूची बैंक व संबंधित ग्राम पंचायतों में लगाई जाएगी। जिले के 50 हजार 232 पात्र किसानों की जानकारी संकलित की गई है। प्रायोगिक तौर पर कान्होलीबारा व धापेवाडा में क्रमश: 212 व 77 पात्र किसानों की सूची पोर्टल पर उपलब्ध है। यह सूची संबंधित बैंक व ग्राम पंचायत में प्रसिध्द की गई है। दोनों गांव के किसानों के आधार प्रमाणीकरण का काम जारी है। 
 

कर्जमुक्ति योजना के तहत 1 अप्रैल 2015 से 30 सितंबर 2019 तक बकाया दो लाख तक के कर्ज माफ किए जाएंगे। कर्जमुक्ति के लाभ के लिए किसान के पास जमीन कितनी है, इसकी कोई शर्त नहीं है। कान्होलीबारा व धापेवाडा के 289 पात्र किसानों की सूची पोर्टल पर उपलब्ध है। इनका आधार प्रमाणीकरण का काम जारी है। सूची में त्रुटी होने पर उसमें सुधार करने की जानकारी जिल्हा उपनिबंधक अजय कडू द्वारा दी गई।

इस ‌अवसर पर किसान गजानन काशिनाथ सायम, रमेश कृष्णाजी लाड, हनुमान माणिक बुधवाडे, रामाजी वऱ्हाडे ने  कर्जमुक्ति योजना के अमल पर संतोष व्यक्त किया। हिंगणा के सहायक निबंधक चैतन्य नासरे व धापेवाडा में जिला मध्यवर्ति सहकारी बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री. नाईक उपस्थित थे।