पुलिस ने भेजा नोटिस: राणे को नाशिक के थाने में भरनी होगी हाजिरी

August 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, औरंगाबाद। पुलिस आयुक्त पांडये के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को नोटिस देकर उपस्थित होने की सूचना दी गई है। दो सितंबर को नाशिक में उपस्थित होना होगा, साथ ही विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस की टीप्पणी का उत्तर देते हुए पुलिस आयुक्त पांडये ने कहा कि,  'मेरा ज्ञान अल्प  और विपक्ष के नेता व केंद्रीय मंत्रीयों का अधिक है। इसलिए कानून के तहत राणे के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। पांडये ने कहा कि, हमारा दल मंत्रीमहोदय को गिरफ्तार करने गया था, लेकिन जब दल  संगमेश्वर पहुंचा तब राणे को रायगड पुलिस ने कब्जे में लिया था। देर रात न्यायालय में सुनवाई हुई। इस दौरान पुलिस ने आपना पक्ष रखा था। 

भाजप के सौ, शिवसेना के 15 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज

नाशिक की भद्रकाली पुलिस ने पथराव के मामले में शिवसेना के 10  कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। साथ ही भाजपा के 100 और शिवसेना के 15 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। भाजप व शिवसेना के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ और भीड़ जमा की थी। इस मामले में कुल तीन शिकायतें दर्ज की गईं। भाजपा की ओर से विजय कुलकर्णी  ने शिकायत दर्ज कराई। भद्रकाली पुलिस ने शिवसेना के महेंद्र बडवे, दिगंबर मोगरे, सुनील गोडसे, संजय चिंचोरे, वैभव खैरे, गोकुल तिडके, मकुंद सपकाल, सत्यजीत मोरे, हेमंत उन्हाळे को कानून व्यवस्था की पार्श्वभूमीवर नाशिकरोड पुलिस थाने में बंद किया था। शिवसेना के  बाला दराडे, नगरसेवक दीपक दातीरसहित छह लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया। 

भद्रकाली पुलिस ने शिवसेना के सुनील गोडसे, मोहित गोसावी, संजय चिंचोले, मुकुंद सपकाल, महेंद्र बडवे, वैभव खैरे, दिगंबर मोगरे, हेमंत उन्हाले, दस्तगीर रंगरेज के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। शिवसेना की ओर से वकील शामला दीक्षित ने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। जिनके अनुसार भद्रकाली पुलिस भाजपा के नगरसेवक मुकेश शहाणे, अनिकेत सोनवणे, अमित घुगे, अमोल इघे, पवन कलाल, किरण गाडे सहित करिब 100 कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया।
 

खबरें और भी हैं...