दैनिक भास्कर हिंदी: किसान आंदोलन को लेकर महाराष्ट्र में चढ़ा सियासी पारा, राऊत बोले - बंद का समर्थन करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी

December 7th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। किसान आंदोलन को लेकर उपराजधानी में सिख संस्थाएं प्रदर्शन करने जा रही हैं। किसान कानून को रद्द करने की मांग की जा रही है। इसके अलावा नाशिक में कृषि मंडियां भी बंद रहेंगी। 8 नवंबर को किसानों के देशव्यापी बंद का महाविकास अघाड़ी में शामिल तीनों दलों यानी शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने समर्थन किया है। 

तीन कानूनों का विरोध 

मूल्य उत्पादन और कृषि सेवा अधिनियम, 2020
आवश्यक वस्तु (अनुसंधान) अधिनियम, 2020
किसानों का उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधाएं) अधिनियम, 2020