हरियाणा: हरियाणा जिला परिषद चुनाव में बीजेपी का खराब प्रदर्शन

November 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा में हाल ही में संपन्न जिला परिषद के चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा को हार का सामना करना पड़ा। उसे सात जिलों में जिला परिषद की 102 सीटों में से केवल 22 सीटों पर जीत मिली। जबकि आप ने 143 पंचायत समितियों और 14 जिला परिषद सीटों पर जीत हासिल की। आप के समर्थन वाले पांच अन्य उम्मीदवारों ने भी जीत दर्ज की। पंचकुला में भाजपा जिला परिषद की सभी 10 सीटों पर हार गई, जबकि सिरसा में वह 24 सीटों में से 10 पर हार गई।

जिला परिषद की 72 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) ने 14 सीटों पर जीत हासिल की। मुख्य विपक्षी कांग्रेस और भाजपा की सहयोगी जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) ने पार्टी के चिन्ह पर चुनाव नहीं लड़ा था। कई निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी जीत दर्ज की। हालांकि राजनीतिक दलों ने दावा किया कि निर्दलियों को उनका समर्थन था।

इनेलो के ऐलनाबाद विधायक अभय चौटाला के बेटे करण चौटाला सिरसा में जिला परिषद के वार्ड 6 से 600 से अधिक मतों से जीते। हारने वालों में कुरुक्षेत्र के भाजपा सांसद नायब सिंह सैनी की पत्नी भी शामिल हैं, जिन्हें अंबाला में जिला परिषद के वार्ड 4 से एक निर्दलीय उम्मीदवार ने हराया।

कैबिनेट मंत्री अनिल विज के गृह जिले अंबाला में बीजेपी 15 में से केवल दो सीटों पर जीत हासिल कर सकी। विज के निर्वाचन क्षेत्र अंबाला छावनी में एकमात्र सीट आप के खाते में गई। भाजपा के मुख्य प्रवक्ता संजय शर्मा ने दावा किया कि 15 जिलों में भाजपा समर्थित 151 उम्मीदवार विजयी हुए हैं। उन्होंने कहा कि 22 जिला परिषदों के 411 सदस्यों में से 300 से अधिक निर्वाचित उम्मीदवारों का समर्थन भाजपा के पास है।

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि पंचायत चुनावों में भाजपा की हार मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार के लिए 2024 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले चेतावनी है। हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष ओ.पी. धनखड़ ने ट्वीट किया, कई उम्मीदवार जिन्होंने पार्टी सिंबल पर चुनाव लड़ा है या बीजेपी के समर्थन से पंचायत चुनाव जीते हैं, उन्हें बहुत-बहुत बधाई।

 

 (आईएएनएस)

.

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.