दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर शहर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष चुने गए प्रवीण दटके

June 22nd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर भाजपा की कमान पूर्व महापौर प्रवीण दटके को सौंपी गई है। शहर अध्यक्ष सुधाकर कोहले को पदमुक्त करके दटके को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। दटके की नियुक्ति का निर्णय शुक्रवार की रात को अचानक लिया गया। प्रदेश अध्यक्ष रावसाहेब दानवे ने उन्हें तत्काल मुंबई बुलवाया। फिलहाल मुंबई में विधानमंडल का मानसून सत्र चल रहा है। दटके की अचानक नियुक्ति को लेकर राजनीतिक कयास भी लगाए जा रहे हैं। हालांकि शहर भाजपा की ओर से कहा जा रहा है कि कोहले का 3 साल का कार्यकाल पूरा होने के कारण यह नियुक्ति की गई है। नियुक्ति के संबंध में अधिकारिक घोषणा भी नहीं की गई हैं।

40 वर्ष के प्रवीण दटके शहर भाजपा की युवा टीम में सबसे सक्रिय नेताओं में अग्रक्रम में हैं। भारतीय जनता युवा मोर्चा के माध्यम से वे संगठनात्मक नेतृत्व का परिचय दे चुके हैं। वर्ष 2010 में वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के शहर अध्यक्ष चुने गए थे। उसके बाद 2017 तक भाजयुमो के प्रदेश महासचिव रहे। 2014 से 2017 तक नागपुर महानगरपालिका के महापौर रहे। प्रवीण दटके के पिता प्रभाकरराव दटके भी शहर भाजपा के अध्यक्ष रहे हैं। संघ व भाजपा कार्यकर्ताओं की सहभागिता में बनी शिक्षक सहकारी बैंक के संस्थापक अध्यक्ष भी रहे हैं। 1997 में हृदयघात से प्रभाकरराव दटके के निधन के बाद गिरीश व्यास को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।  प्रवीण दटके को मध्य नागपुर में विधानसभा चुनाव में भाजपा के इच्छुक उम्मीदवार में गिना जा रहा है। स्थानीय राजनीति मेें वे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सबसे करीबी सहयोगियों में गिने जाते रहे हैं। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि संगठन की जिम्मेदारी देकर दटके को राजनीतिक प्रोत्साहन दिया जा रहा है। 

पहली बार सीधी नियुक्ति

भाजपा में संगठनात्मक चुनाव के लिए औपचारिक प्रक्रिया पूरी होती है। लेकिन पहली बार सीधी नियुक्ति हुई है। राष्ट्रीय स्तर पर जे.पी नड्‌डा को भाजपा का कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने की तर्ज पर दटके को प्रदेश नेतृत्व ने शहर कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। बताया जा रहा है कि नागपुर के अलावा राज्य में 16 स्थानों पर नेतृत्व बदला गया है। सुधाकर कोहले को प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नियुक्त किया गया है। काेहले को जनवरी 2016 में शहर अध्यक्ष चुना गया था। जनवरी 2019 में उनका कार्यकाल पूरा हो गया। लोकसभा चुनाव की तैयारी की व्यस्तता के कारण कोहले के स्थान पर नए अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो पाया था। बताया जा रहा है दिसंबर तक दटके शहर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष बने रहेंगे। 

खबरें और भी हैं...