दैनिक भास्कर हिंदी: विधानसभा चुनाव की तैयारी : 16 जून को अयोध्या जाएंगे उद्धव, आठवले बोले- बार-बार जाने से नहीं बनेगा मंदिर

June 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लोकसभा चुनाव मिलकर रहनेवाली भाजपा व शिवसेना में फिर से कसमसाहट बढ़ने के आसार है। विधानसभा चुनाव की तैयारी के तहत दोनों दल ने अपनी कमान कसना शुरु कर दिया है। भाजपा इस बार फिप्टी फिप्टी के फार्म्यूले पर गठबंधन करने पर जोर दे रही है। लेकिन शिवसेना इसके लिए सहज ही राजी होने की स्थिति में नहीं है। ऐसे में सीटों को लेकर दबाव की राजनीति अपनाए जाने के आसार है। शुक्रवार को मुंबई में भाजपा की हुई बैठक में इस मामले पर भी चुनिंदा पदाधिकारियों की चर्चा हुई है। प्रदेश स्तर के एक पदाधिकारी के अनुसार जल्द ही दोनों दल की कसमसाहट सामने दिख सकती है।

उधर शुक्रवार को ही शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अयोध्या दौरा की घोषणा कर दी है। 16 जून को अयोध्या दौरा होगा। दौरे में शिवसेना के 18 सांसद शामिल रहेंगे। 6 माह पहले भी शिवसेना की ओर से अयोध्या दौरा किया गया था। यह वह दौर था जब लोकसभा चुनाव की तैयारी चल रही थी। नवंबर 2018 में शिवसेना के उस दौरे के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी मंदिर मामले को लेकर प्रदर्शन कर रहा था। संघ की ओर से हुंकार सभाओं का आयाेजन किया गया था। नागपुर , अयोध्या सहित 4 स्थानों पर हुई हुंकार सभाओं के अलावा प्रयाग में अर्द्धकुंभ में भी मंदिर मामला चर्चा में था। संतों में मतभेद सामने आने लगे थे। लेकिन संघ व अन्य संगठन की ओर से आवाज उठ रही थी कि अयोध्या मेें मंदिर निर्माण के लिए सरकार की ओर से संसद में अध्यादेश लाया जाना चाहिए। 

शिवसेना भी अध्यादेश की मांग कर रही थी। पुलवामा हमला प्रकरण के बाद मंदिर मामले की चर्चा अचानक थम गई। उधर भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना प्रमुखा उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर भाजपा शिवसेना के गठबंधन की गांठ दोबारा बंधवा दी। शिवसेना ने भाजपा के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के विरोध में कई मुद्दे उठाए थे। राज्य में कृषि व किसान के मामले पर शिवसेना की सरकार विरोधी भूमिका को समर्थन भी मिल रहा था। अब माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में अपनी शर्ते मनवाने तक शिवसेना दबाव की राजनीति पर कायम रहेगी।

उद्धव पार्टी के सांसदों के साथ 16 जून को जाएंगे अयोध्या

शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे 16 जून को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जाएंगे। उद्धव पार्टी के सांसदों के साथ में अयोध्या में रामलला के दर्शन करेंगे। शुक्रवार को शिवसेना सांसद संजय राऊत ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिले स्पष्ट बहुमत को देखते हुए शिवसेना राम मंदिर के निर्माण के लिए केंद्र पर दबाव बना रही है। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शिवसेना की यह रणनीति मानी जा रही है। लोकसभा चुनाव में शिवसेना के 18 सांसद निर्वाचित हुए हैं। दूसरी ओर शिवसेना की तरफ से प्रदेश के चारा छावनी के किसानों को बालासाहब ठाकरे महाप्रसाद योजना के तहत 9 जून को अनाज वितरित किया जाएगा। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में 9 जून को जालना के सालेगांव में अनाज वितरित किया जाएगा। इस दौरान उद्धव सूखा प्रभावित किसानों से संवाद भी साधेंगे। शिवसेना नेता व युवासेना अध्यक्ष आदित्य ठाकरे सोलापुर के मोहोल, सोलापुर दक्षिण व उत्तर, अक्कलकोट और बार्शी तहसील में अनाज वितरित करेंगे। इसके बाद आदित्य उस्मानाबाद के भूम तहसील, सोलापुर के सांगोला, मालशिरस, मंगलवेढा, माढा और पंढरपुर तहसील की चारा छावनी का मुआयना करेंगे। शिवसेना नेता व प्रदेश के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते अहमदनगर में मौजूद रहकर अनाज वितरण की व्यवस्था देखेंगे। औरंगाबाद और जलाना में पशुपालन राज्य मंत्री अर्जुन खोतकर, सांगली और सातारा जिले में जलसंसाधन राज्य मंत्री विजय शिवतारे, नाशिक में ग्रामीण विकास राज्य मंत्री दादा भुसे और बीड़ में पूर्व मंत्री जयदत्त क्षीरसागर अनाज वितरण की व्यवस्था देखेंगे।

उद्धव के बार-बार अयोध्या जाने से नहीं बनेगा मंदिर : आठवले

उधर नई दिल्ली में केन्द्रीय मंत्री और आरपीआई (ए) के अध्यक्ष रामदास आठवले ने कहा है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे दस बार भी अयोध्या गए तो भी वहां राम मंदिर बनने वाला नहीं है। मंदिर का निर्माण संवैधानिक तरीके से ही होना चाहिए। उन्होने कहा कि उद्धव लोकसभा चुनाव के पहले भी अयोध्या गए थे। मंदिर निर्माण के लिए उनको वहां बार-बार जाने की जरूरत नहीं है। आठवले ने यहां कहा कि अयोध्या में राम मंदिर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद ही बनना चाहिए। यदि राम मंदिर का निर्माण गैरकानूनी तरीके से शुरू होता है तो इसमें हमारा विरोध रहेगा। बता दें कि उद्धव ठाकरे 16 जून को अयोध्या जा रहे हैं। इसकी पुष्टि शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राऊत ने की है। शिवसेना प्रमुख जून को पार्टी के सभी संासदों के साथ अयोध्या में भगवान श्रीराम का दर्शन करेंगे। उद्धव अयोध्या में राम मंदिर बनाने की बात लगातार कर रहे हैं। इसी के मद्देनजर रामदास आठवले का यह बयान आया है।

आरपीआई को महाराष्ट्र में मिलेगा एक मंत्रीपद

रामदास आठवले ने कहा है कि महाराष्ट्र में फड़नवीस मंत्रिमंडल के संभावित विस्तार में आरपीआई को एक मंत्री पद मिलने वाला है। उन्होने कहा कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने गठबंधन के तहत 20 सीटें मांगी है। उन्होने कहा कि हमारी कोशिश प्रदेश की 20 सीटों पर चुनाव लड़ने की है, परंतु उन्हें उम्मीद है कि कम से कम 10 से 12 सीटें आरपीआई को जरूर मिलेगी। केन्द्रीय मंत्री ने यह भी साफ किया कि विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी अपने चुनाव चिन्ह पर अपना उम्मीदवार खड़े करेगी, कमल निशान पर नहीं।