दैनिक भास्कर हिंदी: जेल में विचाराधीन कैदी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, जेल प्रशासन पर लापरवाही के आरोप

August 20th, 2019

डिजिटल डेस्क,पन्ना। जिला जेल पन्ना में एक 19 वर्षीय विचाराधीन कैंदी द्वारा फांसी लगाकर खुदकुशी कर लेने का मामला सामने आया है। घटना के संबंध में प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार गुनौर थाना क्षेत्र के पड़ेरी निवासी युवक मुकेश कुमार प्रजापति पिता भालू प्रजापति पर गांव की ही नाबालिग बालिका के साथ दुष्कृत्य एवं छेड़खानी का आरोप था । 

अपने गमछे से लगाई फांसी

न्यायालय के आदेश पर जिला जेल पन्ना में विचाराधीन कैदी के रूप में आरोपी को बैरक नम्बर 1 में रखा गया था। यहां  सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच मुकेश कुमार प्रजापति ने परिसर के अंदर मौजूद बाथरूम के पीछे निकली छड़ से अपने गमछे से फांसी लगा ली । घटना की जानकारी जेल प्रशासन को उस समय लगी जब दोपहर के लगभग डेढ़ बजे बैरक में बंद कैंदियो की गिनती  कर्मचारियो द्वारा की गयी और बैरक नम्बर एक से विचाराधीन कैंदी मुकेश प्रजापति लापता दिखा । एक कैदी कम होने से जेल में हड़कम्प मच गया । जेल अधीक्षक दिनेश कुमार इमले ने तत्काल ही सभी कर्मचारियो को जेल परिसर में चारों तरफ तलाशी के लिये लगा दिया। जब जेल परिसर की बाथरूम के पीछे जेल कर्मचारियो की नजर पड़ी तो वहां पर लोहे की छड़ में अपना गमछा बांध कर युवक फांसी के फंदे पर झूल रहा था। तत्काल ही जेल अधीक्षक इमले द्वारा घटना की जानकारी एसडीएम पन्ना बी.बी.पाण्डेय एवं पन्ना कोतवाली पुलिस को दी गई ।

अधिकारी पहुंचे घटना स्थल पर

सूचना पाते ही एसडीएम पन्ना पन्ना एसडीओपी आर.एस.रावत, कोतवाली नगर निरीक्षक अरविन्द कुजूर पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गये इसके उपरांत घटना स्थल का जायजा लेने के बाद घटना की जानकारी गुनौर थाना पुलिस को दी गयी। जिसके बाद गुनौर थाना से उपनिरीक्षक प्रियंका पटेल एवं सहायक उपनिरीक्षक भगवत दयाल ग्राम पड़ेरी पहुंचे और विचाराधीन कैंदी के परिजनो को सूचना दी ।

जेएमएफसी न्यायालय के मजिस्ट्रेट के सामने हुई पंचनामा कार्यवाही

जिला जेल परिसर के अंदर विचाराधीन कैदी की मौत को बड़े ही गंभीरता से लिया गया है जिसको लेकर जेएमएफसी न्यायाधीश मनोज तिवारी एवं उनके साथ तीन अन्य जूनियर मजिस्ट्रेटों की मौजूदगी में कोतवाली नगर निरीक्षक अरविन्द कुजूर द्वारा पंचनामा कार्यवाही तैयार की गयी और शाम को लगभग 6:30 बजे शव को जेल के बाहर निकाला गया एवं पोस्टमार्टम कार्यवाही हेतु जिला चिकित्सालय के शव विच्छेदन ग्रह भिजवाया गया है।