दैनिक भास्कर हिंदी: मराठावाड़ा में धीमी गति से निर्माण कार्यों को लेकर ठेकेदारों पर बरसे PWD मंत्री चव्हाण

May 10th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश के सार्वजनिक निर्माण कार्य (पीडब्ल्यूडी) मंत्री अशोक चव्हाण ने मराठवाड़ा में राष्ट्रीय महामार्गों की धीमी गति से चल रहे कामों को लेकर नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने प्रलंबित कामों को लेकर ठेकेदारों को जमकर फटकार लगाई। साथ ही अधूरे कामों को तत्काल पूरा करने के स्पष्ट निर्देश दिए। सोमवार को चव्हाण ने मराठावाड़ा विभाग के 24 राष्ट्रीय महामार्गों के कामों की समीक्षा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। इस दौरान उन्होंने मराठवाड़ा के औरंगाबाद मंडल के राष्ट्रीय महामार्गों के अधूरे कामों की समीक्षा की। चव्हाण ने राष्ट्रीय महामार्गों के धीमी गति से चल रहे कामों पर कड़ी नाराजगी जताई।चव्हाण ने कहा कि सड़कों के काम करते समय भूमिअधिग्रहण और वन विभाग की मंजूरी और अन्य समस्याओं का निपटारा जल्द करें। इसके लिए जरूरत पड़ी तो राज्य स्तरीय राजस्व विभाग के साथ बैठक बुलाई जाए। इस तरह की अड़चन को दूर करने के लिए नीतिगत फैसला लिया जाए। चव्हाण ने कहा कि राष्ट्रीय महामार्ग अथवा राज्य महामार्ग का काम करते समय होने वाली अड़चन और सड़कों के निर्माण कार्य को लकेर नागरिकों का विरोध क्यों होता है? इसका अध्ययन करने के लिए अभियंता की नियुक्ति कर रिपोर्ट सौंपी जाए। बैठक में राष्ट्रीय महामार्ग के औरंगाबाद मंडल के साल 2020-21 के वार्षिक प्रारूप की समीक्षा की गई। जबकि साल 2021-22 के वार्षिक प्रारूप के तहत किए गए जाने वाले कामों की जानकारी दी गई। 

इन सड़कों के कामों का लिया जायजा

बैठक में औरंगाबाद विभाग के पैठण से शिरुर,शिरुर से खर्डा,खरवंडी से राजुरी,शिऊर से वैजापुर-येवला,औरंगाबाद से  सिल्लोड, चिखली से धड,परली सेपिंपला दहीगुडा,पानगांव-धरमपुरी-परली-इंजेगाव,कोल्हा से नसरतपुर,नसरपुर से  बासगाव,सरसम से कोठारी,अर्धापुर से हिमायतनगर,हिमायतनगर से फुलसांगवी,उस्मानगर से कुंद्राल इन 14 सड़कों के कामों की समीक्षा की गई। इसके साथ ही अहमदपुर- पिंपला जंक्शन,पिंपला जंक्शन से मांजरसुंभा,मांजरसुंभा से  चुंबली फाटा, जहिराबाद से निलंगा-लातूर,मंठा से परतूर,  परतूर से माजलगाव, केज से कुसलंब, शिरोड शहापूर से  वसमत,जिंतूर से परभणी और अष्टेमोड-टिवाटयाल (लातूर से उदगीर) इन महामार्ग के कामों का जायजा लिया। बैठक में पीडब्ल्यूडी के सचिव (सड़क) उल्हास देबडवार, सचिव (निर्माण कार्य)अनिल गायकवाड, राष्ट्रीय महामार्ग के विनय देशपांडे, औरंगाबाद विभाग के कार्यकारी अभियंता व अधीक्षक अभियंता समेत कई अधिकारी मौजूद थे।