दैनिक भास्कर हिंदी: कोकण में ग्रीन रिफाइनरी परियोजना चाहते हैं राज ठाकरे, उद्धव-पवार और फडणवीस को लिखा पत्र

March 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने कहा है कि कोकण में प्रस्तावित रत्नागिरी-राजापुर रिफाइनरी परियोजना का हाथ से जाना कोकण के लिए नुकसानदेह साबित होगा। इस परियोजना के समर्थन में उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार व विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि महाराष्ट्र इस प्रोजेक्ट को गवाने की स्थिति में नहीं है। इसलिए सरकार इस मामले में सकारात्मक भूमिका अपनाएं। उनकी पार्टी सरकार को हर संभव सहयोग प्रदान करेगी। पत्र में मनसे प्रमुख ठाकरे ने कहा है कि कोकण हर दृष्टि से समृद्ध है। फिर भी यहां के युवाओं को रोजगार की तलाश में मुंबई व पुणे जाना पड़ता है। उन्होंने कहा है कि कोकण को कैलिफोर्निया बनाने की बात कही जाती है पर हकीकत में कोकण को किसी विकास के मॉडल की जरुरत नहीं है, क्योंकि वास्तविक रुप में कोकण खुद विश्व के लिए एक विकास का मॉडल साबित हो सकता है। 

राज ने कहा है कि कोरोना के चलते पैदा हुई परिस्थितियों ने सारे संदर्भ बदल दिए हैं। देश के सभी राज्यों में निवेश लाने को लेकर गलाकाट स्पर्धा जारी है। अतीत में अंतराष्ट्रीय स्तर का एक बड़ा प्रोजेक्ट यहां से बेंगलुरु चला गया है जिसे फिर वापस लाने की राज्य सरकार की तैयारी चल रही है। अब ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिससे महाराष्ट्र को तीन लाख  करोड़ रुपए का  रत्नागिरी-राजापुर रिफाइनरी प्रोजेक्ट से हाथ न धोना पड़े। उन्होंने कहा है स्थानीय लोग पर्यावरण व दूसरी चिंताओ को लेकर इस प्रोजेक्ट का विरोध कर रहे हैं लेकिन बातचीत के जरिए उनकी शंकाओ व सवालों को खत्म करना चाहिए। यदि यह प्रोजेक्ट यहां से बाहर गया तो उद्योग के लिए अग्रणी के रुप में बनी महाराष्ट्र की पहचान खत्म होने में समय नहीं लगेगी। इस प्रोजेक्ट से बड़ी संख्या में यहां के लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। गौरतलब है कि शिवसेना इस परियोजना के विरोध में रही है। 

रिफायनरी परियोजना को लेकर कैसे हो गया हृदय परिवर्तन: राऊत

रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग के शिवसेना सांसद विनायक राऊत ने मनसे प्रमुख राज ठाकरे के प्रोजेक्ट को लेकर बदले रुख पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि ठाकरे ने इससे पहले नाणार रिफायनरी परियोजना का कड़ा विरोध किया था। नाणार में 221 गुजराती भूमाफियाओ ने जमीन ली है। ऐसे में मुझे आशंका है कि राज ठाकरे को सच में कोकणवासियों की चिंता है या फिर वे भूमाफियओ के फायदे के लिए प्रोजेक्ट का समर्थन कर रहे।