पन्ना: पन्ना जिले के 16 समूहों की 43 शराब दुकानों के नवीनीकरण की कार्यवाही शुरू

February 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, पन्ना। प्रदेश में शराब बंदी की मांग को लेकर उठ रही आवाजों के बीच आबकारी विभाग राजस्व के मामलें में सरकार का सबसे बड़ा कमाऊ पूत बन हुआ है। सरकार द्वारा आबकारी से कमाई में बढ़ोत्तरी हो इसके लिये वित्तीय वर्ष २०२२-२३ (०१ अप्रेैल २०२२ से ३१ मार्च २०२३)की अवधि के लिये बनाई गई पॉलसी में बदलाव करते हुए अंग्रेजी शराब दुकानों में अंग्रेजी के साथ देशी शराब बेचने और देशी शराब दुकानों में देशी के साथ अंग्रेजी शराब की बिक्री करने की अनुमति दी गई र्है। नई शराब नीति के तहत वर्तमान सत्र के लाईसेंस धारियों को ठेके का नवीनीकरण करने का ऑफर देशी रही शराब दुकान के लिये सत्र में आरक्षित मूल्य में २५ प्रतिशत की वृद्धि एवं अंग्रेजी रही शराब दुकानों के लिये सत्र में आरक्षित मूल्य में १५ प्रतिशत वृद्धि के साथ दिया गया है। जिस पर पन्ना जिले में आबकारी विभाग द्वारा जिले में १६ समूह की कुल ४३ शराब दुकानें (वर्तमान ३१ देशी व १२ विदेशी दुकानें) के निष्पादन के लिये नवीनीकरण की कार्यवाही दिनांक २३ फरवरी २०२२ से शुरू कर दी गई है । ठेका नवीनीकरण के लिये निर्धारित शर्तो के अनुसार वर्तमान सत्र के लाईसेंस धारी दिनांक २८ फरवरी २०२२ को आबकारी कार्यायलय में शाम ०५:३० बजे तक जमा कर सकेगें। जिन शराब ठेका समूहों के नवीनीकरण के लिये वैध आवेदन प्राप्त नही होगें शेष बची मदिरा दुकानों एकल समूह पर ठेका के निष्पादन की कार्यवाही ०१ मार्च २०२२ से लाटरी प्रक्रिया से प्रारंभ होगी दिनांक ०४ मार्च २०२२ तक आवेदन-पत्र लाटरी प्रक्रिया के लिये प्राप्त किये जायेगें। इसी दिनांक को जिला आबकारी ठेका निष्पादन समिति आवेदनों का परीक्षण कर निष्पादन संबंधी कार्यवाही पूरी करेगी। नवीनीकरण एवं लाटरी प्रक्रिया के बाद भी जिन शराब ठेका समूहों का निष्पादन नही हो सकेगा उस एकल शराब ठेका समूह के लिये आनलाईन टेण्डर बुलाये जायेगें। जिसका कार्यक्रम अभी मध्य प्रदेश शासन आबकारी विभाग द्वारा जारी नही किया गया है। जिले में वित्तीय वर्ष २०२२-२३ के लिये आबकारी शराब ठेकों के १६ एकल समूहों में स्थित ४३ शराब दुकानों के लिये कुल आरक्षित मूूल्य १०९ करोड़ ७७ लाख ५६ हजार ५३० रूपए निर्धारित किया गया है। मध्य प्रदेश के सबसे पिछड़ें जिलो में शामिल पन्ना जिले में शराब के ठेको की कीमत भी १०९ करोड़ रूपए पार कर जायेगी। जिससे यह कहा जा सकता है कि करोडा़े रूपये सुरा प्रेमी शराब में ही बहा रहे है। 
वर्तमान वित्तीय वर्ष में १० माह के लिये हुआ था शराब का ठेका
ेकोविड-१९ संक्रमण की वजह से वर्तमान सत्र २०२१-२२ के लिये पन्ना जिले में शराब ठेको का निष्पादन १० माह के लिये हुआ था जिले में ३१ देशी तथा १२ विदेशी शराब दुकानें १६ एकल समूहों में कुल आरक्षित मूल्य ७३ करोड़ ६४लाख ८०१८९ रूपये मूल्य पर निष्पादित हुई थी। और नवीन सत्र २०२२-२३ में वर्षिक ठेका मूल्य में बढ़ी बढ़ोत्तरी होते हुए १०९ करोड़ ७७ लाख ५६ हजार ५३७ रूपये निर्धारित किया गया अर्थात आबकारी विभाग जिले में पिछले साल की तुलना में ३६ करोड़ १२लाख ७६ हजार ३४८ रूपये अधिक कमाई करने की तैयारी में है। 
कलेक्टर ने लाइसेंसियों की बैठक
पन्ना जिले की 43 मदिरा दुकानों के लायसेंसों के नवीनीकरण के सम्बंध में कलेक्टर पन्ना एवं जिला निष्पादन समिति के अध्यक्ष संजय कुमार मिश्र द्वारा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शराब दुकानों के लाइसेंसियों की बैठक ली। जिसमें जिला आबकारी अधिकारी एवं जिला समिति के सचिव भगवान सिंह परिहार की उपस्थिति में सभी लाइसेंसियों से दुकानों के नवीनीकरण की चर्चा की गयी। लगभग सभी लाइसेंसियों द्वारा पन्ना जिले की शराब दुकानों के नवीनीकरण करवाने की सहमति जताई गयी। आबकारी उपनिरीक्षक मुकेश पाण्डेय ने बताया कि शासन द्वारा आगामी वर्ष 2022-23 के लिए नवीन आबकारी नीति घोषित की गयी है। जिसमें शराब दुकानों के निष्पादन हेतु तीन विकल्प नवीनीकरण, लॉटरी और ई-टेंडर रखे गए है।। सर्वप्रथम वर्तमान लाइसेंसियों को अवसर देते हुए निर्धारित वार्षिक मूल्य पर नवीनीकरण का विकल्प दिया गया है। जिसमें यदि जिले के 70 प्रतिशत वार्षिक मूल्य के नवीनीकरण के आवेदन आते हैए तो नवीनीकरण होगा। शेष बची दुकानों के लिए लॉटरी का विकल्प होगा। यदि कोई मदिरा दुकान समूह इसके बाद भी शेष रहता है तो उस पर ई टेंडर के माध्यम से निष्पादित किया जाएगा। इस बैठक में आबकारी उपनिरीक्षक श्रीमती हनी कृष्णा शर्मा, मुकेश पाण्डेय, लायसेंसी वीरेंद्र राय, अरविंद विष्णु पाण्डेय, आशीष शिवहरे, अमित शर्मा आदि शामिल रहे।