दैनिक भास्कर हिंदी: नायर अस्पताल रेजिडेंट डॉक्टर आत्महत्या : तीनों आरोपी महिला डॉक्टर फरार

May 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर के प्रतिष्ठित नायर अस्पताल की डॉक्टर पायल तडवी आत्महत्या मामले की तीनों आरोपी डॉक्टर फरार हो गईं हैं। आरोप है कि सीनियर डॉक्टरों द्वारा की जा रही रैगिंग से परेशान होकर डॉ तडवी ने आत्महत्या की। पुलिस ने डॉ हेमा आहूजा, डॉ भक्ति महिरे और डॉ अंकिता खंडेलवाल के खिलाफ एट्रोसिटी कानून के तहत एफआईआर दर्ज की है। तीनों फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

मामले को गंभीरता से लेते हुए महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (मार्ड) ने भी आरोपी डॉक्टरों की सदस्यता रद्द कर दी है। आरोप है कि तीनों वरिष्ठ डॉक्टरों की प्रताड़ना से परेशान होकर जलगांव की रहने वाली 23 वर्षीय तडवी ने नायर अस्पताल के कॉलेज हास्टल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। तडवी के परिजनों ने जलगांव में जिलाधिकारी कार्यालय में उसका शव रख दिया और दोषियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की जाने लगी। रिश्तेदारों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने तीन महिला डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

मुंबई आई तडवी की मां आबिदा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि इससे पहले वे बेटी से मिलने आई थीं तो उन्हें तीनों डॉक्टरों ने मिलने नहीं दिया। बुधवार को उसने फोन कर बताया था कि तीनों आरोपी डॉक्टर उसे मानसिक प्रताड़ना दे रही हैं। परिवार से तडवी के ह्वाट्सएप ग्रुप चैट को सबूत के तौर पर पुलिस को सौंपा है। जातिय टिप्पणी के जरिए उसके अपमान का भी आरोप लगाया गया है। वहीं नायर अस्पताल के व्यवस्थान का दावा है कि तडवी ने रैगिंग की कोई शिकायत नहीं की थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है साथ ही रैगिंग विरोधी समिति भी इसकी छानबीन करेगी। 

.