comScore

सांसद संजय राऊत का दावा- हमारे संपर्क में हैं पंकजा, तावडे बोले ऐसी कोई बात नहीं

सांसद संजय राऊत का दावा- हमारे संपर्क में हैं पंकजा, तावडे बोले ऐसी कोई बात नहीं

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश की पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे के फेसबुक पोस्ट और उसके बाद ट्वीटर से भाजपा का नाम हटाए जाने के बाद उनके पार्टी छोड़ने की अटकलें तेज हो गई हैं। नाशिक में शिवसेना के सांसद संजय राऊत ने पंकजा के संपर्क में होने का दावा किया। राऊत ने कहा कि शिवसेना में आने के लिए कई नेता इच्छुक हैं। पंकजा के संबंध में फैसला 12 दिसंबर को ही पता चल सकेगा। दूसरी ओर पंकजा के मामा प्रकाश महाजन ने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि वह भाजपा छोड़ेंगी। महाजन ने कहा कि पंकजा ने कार्यकर्ताओं को ढांढस बढ़ाने के लिए फेसबुक पर पोस्ट लिखा है। पंकजा भाजपा की ओबीसी चेहरा मानी जाती हैं। विधानसभा चुनाव में पंकजा अपने चचेरे भाई व राकांपा के विधायक धनंजय मुंडे से हार गई थीं। फेसबुक पोस्ट में लिखी थी ये बातें इससे पहले रविवार को पंकजा ने फेसबुक पर पोस्ट लिखा था कि मुझे 8 से 10 दिन तक चिंतन करना है। इसके बाद मैं तय कर लूंगी कि मुझे क्या करना है और मुझे कौन से रास्ते पर जाना है। मैं 12 दिसंबर गोपीनाथ मुंडे जी की जयंती पर आपसे मुलाकात करूंगी। 

शिवसेना के सम्पर्क में नहीं हैं पंकजा

वहीं भाजपा के पूर्व मंत्री विनोद तावडे ने कहा कि पंकजा के पार्टी निष्ठा के बारे में भाजपा में किसी को शंका नहीं है। मुंडे-महाजन परिवार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के परिवार से संबंध जरूर अच्छे रहे हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पंकजा भाजपा छोड़ेंगी। तावडे ने कहा कि पंकजा से मेरी बातचीत हुई है। उन्होंने फेसबुक पर 12 दिसंबर को पूर्व केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम का निमंत्रण देने के लिए पोस्ट किया था। तावडे ने कहा कि पंकजा शिवसेना के संपर्क में नहीं हैं और विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं पाने वाले मेरे सहित अन्य पूर्व मंत्री भी शिवसेना के संपर्क में नहीं है। 

प्रदेश भाजपा ने पंकजा के पार्टी छोड़ने की अटकलों को खारिज किया है। दूसरी तरफ पंकजा के शिवसेना से संपर्क में होने की चर्चा है, पर समझा जा रहा है कि पंकजा अपने राजनीतिक पुनर्वास के लिए भाजपा पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। पंकजा की नजर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद और विधानसभा परिषद में विपक्ष के नेता पद पर है। प्रदेश भाजपा के नए अध्यक्ष का चयन 15 दिसंबर को होना है वहीं विधान परिषद में विपक्ष के नेता पद के लिए भाजपा के पास कोई बड़ा चेहरा नहीं हैं। अपने चचेरे भाई धनंजय मुंडे के हाथों विधानसभा चुनाव हारने के बाद से पंकजा पार्टी में केवल कोर कमेटी की बैठकों में नजर आई थीं। सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि पंकजा पार्टी नहीं छोड़ेंगी। मेरी पंकजा से बात हुई है। पाटील ने कहा कि हादसे के कारण राज्य में नई सरकार बनी है। यह सरकार कितने दिन चलेगी। यह पता नहीं है। सत्ताधारी दल के नेताओं के मन में पंकजा के भाजपा छोड़ने की सोच पैदा हो रही है। लेकिन ऐसा होगा नहीं। 


 

कमेंट करें
FKtim