दैनिक भास्कर हिंदी: स्कूल पर अंधविश्वास का साया : अब भूत के डर से 200 बच्चों ने छोड़ी पढ़ाई

July 22nd, 2019

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। इन दिनो भूत के खौफ ने 200 से ज्यादा छात्रों को पढ़ाई से महरूम कर दिया है। बच्चों ने बस्ते घरों में रख दिए हैं, वो अब पढ़ना नहीं चाहते, स्कूल नहीं जाना चाहते, क्योंकि एक अजीब सा डर उनके मन में घर कर गया है, जिसकी जद में अब शिक्षा विभाग भी आ चुका है, अधिकारियों की समझ से परे हैं कि आखिर आश्रम शाला एका-एक खाली कैसे हो गई। शनिवार शाम कोरची तहसील की कोटगुल आश्रमशाला में भूत होने की अफवाह उड़ते ही सभी छात्रों ने स्कूल छोड़ दिया। एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प कार्यालय के तहत आनेवाली आश्रमशाला में आदिवासी बच्चों को शिक्षा दी जाती है। वह यहीं रहते और पढ़ते हैं, लेकिन 118 छात्र और 128 छात्राओं को भूत का डर इस कदर सताने लगा कि उन्होंने स्कूल छोड़ने का फैसला भी कर लिया। 

पहले भूत की अफवाह फैली

सहायक प्रकल्प अधिकारी विकास राचर्लावार के मुताबिक पहले भूत होने की अफवाह फैली। इसके बाद अफवाह उड़ी की कुछ छात्रों के शरीर में भूत घुस गया था। इससे भयभीत छात्र-छात्राएं आश्रमशाला छोड़ अपने-अपने गांव चले गए। जिसके कारण अब परिसर पूरी तरह वीरान हो गया है। मामले की जानकारी मिलते ही दो कनिष्ठ शिक्षण अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची। जहां अभिभावक और शाला प्रबंधन समिति के पदाधिकारियों से चर्चा की गई, साथ ही उन्हें अफवाहों से दूर रहने की सलाह दी गई। जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि सभी स्टूडेंट्स जल्द ही लौट आएंगे।

हवन कराने की मांग की अड़े अभिभावक   

अभिभावकों के मन में अंधविश्वास इस कदर छाया है कि वो वहां पुजारी के माध्यम से हवन कराने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि हवन पूजन के बाद ही बच्चों को स्कूल भेजा जाएगा। जब्कि अंधश्रध्दा निर्मुलन समिति इस बात को समझाने का भरकस प्रयास कर रही है कि भूत-वूत जैसी कोई चीज नहीं होती। ऐसी अफवाहों से बचना चाहिए, इसे लेकर समिति के सदस्यों ने लोगों से मुलाकात कर, उनकी काउंसलिंग की, तांकि उनके मन से भूत का डर निकाला जा सके।   

खबरें और भी हैं...