comScore

उद्धव ने कहा - युति की होगी अगली सरकार, भाजपा के लिए सातारा सीट छोड़ेगी शिवसेना

उद्धव ने कहा - युति की होगी अगली सरकार, भाजपा के लिए सातारा सीट छोड़ेगी शिवसेना

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर असमंजस के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना पक्ष उद्धव ठाकरे ने युति के साफ संकेत दिए हैं। बुधवार को नई मुंबई में माथाडी नेता अण्णासाहेब पाटील की जयंती पर आयोजित माथाडी कामगारों के सम्मेलन में फडणवीस और उद्धव एक मंच पर नजर आए। उद्धव ने कहा कि विधानसभा चुनाव में महायुति की सरकार आएगी। हम सरकार बनाकर रहेंगे। वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हमारी सरकार है। आप लोगों (माथाडी कामगारों) के आशीर्वाद से विधानसभा चुनाव बाद भी हमारी सरकार आएगी। इसलिए मैं महायुति के माध्यम से विश्वास दिलाता हूं कि सरकार माथाडी कामगारों के साथ मजबूती से खड़ी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि माथाडी कामगारों के लिए इस मंच पर सर्वदलीय नेता मौजूद है। हम कभी नहीं कहेंगे कि यह मंच किसी एक दल का बनाया जाए। हम कभी नहीं चाहेंगे कि माथाडी कामगारों के आंदोलन में फूट पड़े। कोई नेता टूटकर हमारे दल में शामिल हो या फिर किसी दूसरे दल में जाए। 

पूरे देश में लागू होगा माथाडी कामगार कानून

मुख्यमंत्री ने कहा कि माथाडी कामगार कानून को 50 साल पूरे हो गए हैं। इस कानून से प्रदेश के सुदूर इलाकों से महानगर की कृषि मंडियों में काम करने वाले कामगारों को संरक्षण मिला है। नीति आयोग महाराष्ट्र के माथाडी कामगार कानून का अध्ययन कर रहा है। महाराष्ट्र की तर्ज पर पूरे देश में माथाडी कामगार कानून लागू करने की मंशा केंद्र की मोदी सरकार की है। इसके लिए एक मसौदा बनाने का काम शुरू है। 

हम बदले की भावना से नहीं करेंगे बर्ताव 

उद्धव ने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार का नाम लिए बिना कहा कि महाराष्ट्र की संस्कृति हमें अपने विचार व्यक्त करने का मौका देती है। लेकिन बदले की भावना से किए गए बर्ताव पर कोई किसी को माफ नहीं करता। इसलिए हम किसी के खिलाफ बदले की भावना से व्यवहार नहीं करेंगे।  

भाजपा के लिए शिवसेना छोड़ेगी सातारा सीट

शिवसेना लोकसभा के उपचुनाव में सातारा सीट भाजपा के लिए छोड़ देगी। इसको लेकर शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट संकेत दिए हैं। बुधवार को नई मुंबई में आयोजित माथाडी कामगारों के कार्यक्रम में उद्धव ने कहा कि सातारा की सीट के लिए शिवेसना जिद नहीं करेगी। लेकिन मैंने शिवसेना के नेता नरेंद्र पाटील को सांसद बनाने का सपना नहीं छोड़ा है। सातारा की सीट के लिए शिवसेना विशेष आग्रह नहीं करेगी पर पाटील को सांसद बनाने का हमारा सपना है। उद्धव ने कहा कि पाटील लोकसभा चुनाव के कुछ महीने पहले शिवसेना में शामिल हुए होते तो आज वे सांसद होते। लोकसभा चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन के तहत सातारा की सीट शिवसेना के हिस्से में थी। शिवसेना ने सातारा सीट पर नरेंद्र पाटील को उम्मीदवारी दी थी। पाटील का मुकाबला राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रत्याशी रहे उदयनराजे भोसले से हुआ था। चुनाव में भोसले को जीत मिली थी लेकिन भोसले ने बीते 14 सितंबर को लोकसभा सदस्यता इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए थे। उनके इस्तीफे के कारण सातारा सीट के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होगा। उपचुनाव की घोषणा के बाद पाटील ने कहा था कि सातारा सीट पर शिवसेना का दावा रहेगा। लेकिन उद्धव के रूख से साफ है कि शिवसेना सातारा की सीट भाजपा के लिए छोड़ देगी। उपचुनाव में भाजपा की तरफ से भोसले की उम्मीदवारी लगभग तय मानी जा रही है।

कमेंट करें
WpYkh