- ग्रामीणों ने रेस्क्यू कर पिता-पुत्र की बचाई जान: नहर में गिरा बेटा, बचाने पिता ने लगाई छलांग, दोनों बहे

February 27th, 2022

डिजिटल डेस्क चौरई/छिंदवाड़ा। बांकानागनपुर में रविवार को एक बड़ा हादसा टल गया। यहां नहर में बहे पिता-पुत्र की जान ग्रामीणों ने बचाई। खेत में पानी सप्लाई के लिए नहर में पाइप फंसाते वक्त बेटे का पैर फिसल गया। पानी में बेटे को बहता देख पिता ने भी छलांग लगा दी। पिता-पुत्र दोनों पानी में बहकर आरसीसी बॉक्स में जा फंसे। आसपास मौजूद ग्रामीणों ने पिता-पुत्र को बचाने रेस्क्यू कर आरसीसी बॉक्स में बने वेंटीलेशन सॉफ्ट खोलकर उन्हें बाहर निकाला। ग्रामीणों की तत्परता के चलते पिता-पुत्र की जान बच गई।
टीआई शशि विश्वकर्मा ने बताया कि रविवार शाम लगभग 4.30 बजे बांकानागनपुर निवासी 30 वर्षीय सुरेश वैष्णव खेत में पानी सप्लाई के लिए नहर में पाइप लगा रहा था। इस दौरान उसका पैर फिसल गया और वह पानी में बहने लगा। बेटे को पानी में बहता देख पिता 55 वर्षीय राधेश्याम वैष्णव ने भी नहर में छलांग लगा दी। पिता-पुत्र की आवाज सुन आसपास के ग्रामीणों ने उन्हें बचाने का प्रयास किया। इस दौरान दोनों आरसीसी बॉक्स में जाकर फंस गए। ग्रामीणों ने लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद रास्ते में वेंटीलेशन  का ढक्कन हटाकर पिता-पुत्र को बाहर निकाला। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस टीम और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे।
आक्रोशित ग्रामीणों ने लगाए लापरवाही के आरोप-
इस घटना से ग्रामीणों में खासा आक्रोश है। ग्रामीणों ने जलसंसाधन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया कि अंडर ग्राउंड नहर के मुहाने पर जाली लगाने कई बार मांग की जा चुकी है। इसके बाद भी जाली नहीं लगाई है। नहर में गिरने से कई जानवरों की जान जा चुकी है।