दैनिक भास्कर हिंदी: भाजपा महिला मोर्चा का राज्यव्यापी आंदोलन, पाटील बोले - इस्तीफा दें मुंडे

January 16th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने एक बार फिर यौन उत्पीड़न के आरोपी राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग की है। पाटिल ने साफ तौर पर कहा कि महाराष्ट्र सरकार के सामाजिक न्याय मंत्री मुंडे को मंत्रिमंडल से इस्तीफ़ा देना चाहिए। क्योंकि उन्होंने स्वयं स्वीकार किया है कि पहले से ही उनकी एक पत्नी होने का बावजूद उनके बीते कई साल से एक महिला से शारीरिक संबंध है एवं उससे दो बच्चे हैं और उन्होंने दोनों बच्चों को पिता के तौर पर अपना का नाम भी दिया है। शनिवार को पुणे में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने कहा है कि मुंडे की इस स्वीकारोक्ति के बाद उन्हें नैतिकता के नाते सरकार में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। पाटिल ने इस मामले में पूरे प्रदेश में आंदोलन की घोषणा करते हुए कहा कि सोमवार से सभी जिलाधिकारी व तहसीलदार कार्यालयों के सामने भाजपा महिला मोर्चा प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देगा। 
 
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल ने कहा कि दुष्कर्म के आरोपी मंत्री धनंजय मुंडे को मंत्रिमंडल से निकाले जाने पर राकांपा ने पहले तो सकारात्मक रुख दिखाया और पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने भी कहा कि आरोप गंभीर हैं, लेकिन बाद में जांच रिपोर्ट आने तक मुंडे को मंत्रिमंडल से इस्तीफा न देने की वजह बताकर  पवार ने महाराष्ट्र की साढ़े 11 करोड़ जनता की अपेक्षाओं पर पानी फेर दिया है। पाटिल ने कहा कि रेणु शर्मा के आरोपों  एवं मुंडे के एक महिला से 15 सालों से संबंधों की अपने जीवन में की गई अनैतिकता का मामला अलग है। ऐसे में राकांपा लोगों को दिगभ्रमित करने का प्रयास कर रही है। जबकि धनंजय मुंडे ने करुणा शर्मा से जन्मे  जिन दो बच्चों को अपना बताया है, उनका उल्लेख मुंडे ने चुनाव आयोग में पेश अपने हलफनामे में नहीं किया है। 

ऐसे मामलों में कई मंत्रियों ने दिए हैं इस्तीफे

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने याद दिलाया कि ऐसे मामलों में नाम आने पर देश के कई राज्यों के मंत्रियों ने इस्तीफे दिए हैं। उन्होंने कहा कि एयरहोस्टेस से बदसलूकी करने के आरोप में महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री रहे रामराव आदिक, महिलाओं से मालिश कराने के आरोप में आंध्र प्रदेश के राज्यपाल नारायण दत्त तिवारी, नर्स भंवरीदेवी केस के आरोपी राजस्थान के मंत्री महिपाल मदेरणा और बलात्कार के आरोपी बाबूलाल नागर  तिवारी, अश्लील सीडी सार्वजनिक होने पर दिल्ली के मंत्री संदीप कुमार, कर्नाटक के मंत्री एचवाय मिटी सहित मीटू केंपेन में एक महिला द्वारा लगे आरोपों के बाद केंद्र सरकार में मंत्री एमजे अकबर ने भी नैतिकता के नाम पर इस्तीफ़ा दिया। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में धनंजय मुंडे को भी नैतिकता के नाम पर सरकार से निकाल दिया जाना चाहिए। 

मामले में दखल दें मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने अपील की है कि इस मामले में वे दखल दें और आखिर इस तरह के कितने मामलों को वे सहन करते रहेंगे, यह भी एक सवाल है क्योंकि इससे पहले जितेंद्र आव्हाड़ ने भी मारपीट की थी। पाटिल ने कहा कि सोमवार को पूरे प्रदेश में भाजपा महिला मोर्चा  सभी जिलाधिकारी व तहसीलदार कार्यालयों के सामने प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देगा।