दैनिक भास्कर हिंदी: दिनभर चिलचिलाती धूप, शाम बौछारों ने दी राहत- बारिश जल्दी न आई तो दो दिन में एक बार ही मिलेगा पानी 

June 4th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर सहित पूरे विदर्भ में मानसून पूर्व की गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं। हालांकि मौसम विभाग ने विदर्भ के कई स्थानों पर अभी भी तीव्र लू की चेतावनी जारी रखी है। बुधवार को रेड अलर्ट के बाद सप्ताहांत तक ऑरेंज अलर्ट जारी रह सकता है। दिन में पारा बढ़ेगा तो दोपहर बाद मानसूनी हलचलें तेज होंगी। मंगलवार को गर्म हवाओं के साथ तीखी धूप ने परेशान रखा। शाम करीब 6 बजे शहर के कुछ स्थानों में तेज तो कहीं तेज हवाओं के साथ बूंदाबादी ने गर्मी से हल्की राहत देने की कोशिश की। दिन में धूप का तीखापन बढ़ा है, लेकिन रात को राहत रही। मंगलवार को अधिकतम तापमान 46.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री ऊपर रहा। न्यूनतम तापमान मे सोमवार की अपेक्षा 1.5 डिग्री की गिरावट रही, इसके चलते न्यूनतम तापमान सामान्य से 1 डिग्री नीचे 28.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। 

धूल भरी आंधी के आसार

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है। बुधवार को विदर्भ के कई इलाके लू की चपेट में रहेंगे। हालांकि दोपहर बाद धूल भरी आंधी के साथ बंूदाबांदी की भी आशंका जाहिर की गई है। मौसम विभाग के अनुसार, विदर्भ के कई स्थानों पर 30 से 40 किमी की रफ्तार से धूल भरी आंधी चल सकती है।

बारिश जल्दी नहीं आई तो 10 जून के बाद एक दिन बाद मिलेगा पानी 

अपर्याप्त बारिश ने इस बारे तोतलाडोह जलाशय को सूखा दिया है। नौबत डेड-स्टॉक से पानी लेने तक आ गई है। डेड-स्टॉक से 30 एमएमक्यूब पानी उठाने को मंजूरी मिली है। ऐसे में रोजाना यहां 1.26 एमएमक्यूब पानी शहर को छोड़ा जा रहा है। मानसून के आसार अच्छे नहीं रहे या अगले एक-दो में बारिश के संकेत नहीं मिलते हैं तो आगामी 10 जून से शहरवासियों को एक दिन के अंतराल पर पानी देने पर निर्णय लिया जा सकता है। यह संकेत देते हुए मनपा जलप्रदाय समिति के सभापति पिंटू झलके ने कहा कि अगले 3-4 दिन में इस संबंध में बैठक ली जाएगी। 

पानी के दुरुपयोग की शिकायत करें

फिलहाल शहर में पानी बर्बादी को लेकर मिल रही बड़े पैमाने पर शिकायतों को देखते हुए मनपा ने इसकी रोकथाम के लिए एक हेल्पलाइन (8888822700) नंबर जारी किया है। सेव वॉटर मुहिम के यह हेल्पलाइन नंबर जारी कर सभापति झलके ने कहा कि कहीं भी टैंकर के पानी का दुरुपयोग, अवैध कनेक्शन या किसी भी तरह से पानी का दुरुपयोग होता दिखाई देते तो नागरिक नंबर पर तुरंत शिकायत करें या उसकी फोटो नंबर लेकर वाट्सएप पर भेज दें। साथ में पता लिखें। तुरंत कार्रवाई की जएगी। झलके ने कहा कि इसके लिए मनपा द्वारा गठित न्यूसेंस डिटेक्ट सेल की भी मदद ली जाएगी। शिकायत पर पहले जांच करेंगे। शिकायत सही पाई जाती है, तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। एफआईआर का भी प्रावधान है। पत्रपरिषद में जलप्रदाय समिति सदस्य श्रद्धा पाठक, कार्यकारी अभियंता श्वेता बैनर्जी उपस्थित थे। 

गाड़ी धोने और गार्डन में पानी देने पर नहीं लगा सकते रोक 
जलप्रदाय विभाग की कार्यकारी अभियंता श्वेता बैनर्जी ने कहा कि निर्माण कार्य में पीने के पानी का इस्तेमाल करने वाले तीन जगहों पर कार्रवाई की गई। सतरंजीपुरा में 2 और मनीष नगर में एक जगह पर कार्रवाई हुई। सीमेंट रोड या अन्य सरकारी प्रोजेक्ट में भी पीने के पानी की उपयोग नहीं किया जा रहा है। इसके लिए एसटीपी के पानी का उपयोग करने की सलाह दी गई है। हालांकि गाड़ियों की धुलाई, कूलर, गार्डनिंग, हाईजीन जैसे मामलों में पानी के इस्तेमाल को रोका नहीं जा सकता। भीषण गर्मी में अगर कूलर में पानी के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाती है तो सवाल जीवन-मरण का भी है। उच्च न्यायालय के भी इस मामले में दिशा-निर्देश स्पष्ट है। ऐसे मामलों में लोगों को सलाह दे सकते हैं। 

खबरें और भी हैं...