सख्ती से लागू : महाराष्ट्र में सभी बोर्ड के स्कूलों को पढ़ानी होगी मराठी

August 31st, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश सरकार ने सभी बोर्ड के पाठ्यक्रमों और सभी मीडियम के सरकारी और निजी प्रबंधन के हर स्कूलों में मराठी भाषा विषय का अध्ययन सख्ती से लागू करने का फैसला किया है। सरकार ने राज्य के जिन स्कूलों में कक्षा 5 वीं से 10 वीं कक्षा तक मराठी भाषा को द्वितीय विषय के रूप में पढ़ाया आता है उन स्कूलों में अब मराठी को द्वितीय विषय के रूप में सख्ती से पढ़ाने को कहा है। इससे अब राज्य के अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, उर्दू, कन्नड, सिंधी, तेलगू, तमिल, बंगाली समेत अन्य भाषाओं के स्कूलों में मराठी विषय की पढ़ाई अनिवार्य होगी। 

इन स्कूलों में अभी तक मराठी को द्वितीय विषय के रूप में पढ़ाया जा रहा था। राज्य के स्कूली शिक्षा विभाग ने इस संबंध में संशोधित परिपत्र जारी किया है। इसके पहले स्कूली शिक्षा विभाग ने 1 जून 2020 को राज्य के सभी बोर्ड के स्कूलों में मराठी भाषा का अध्यापन और अध्ययन सख्ती से लागू करने के संबंध में शासनादेश जारी किया था। जिसमें राज्य के मराठी स्कूलों को छोड़कर अन्य भाषा के स्कूलों में मराठी को द्वितीय भाषा के रूप में पढ़ाने का आदेश जारी किया गया था पर अब गैर मराठी भाषी स्कूलों में भी मराठी भाषा को द्वितीय भाषा के रूप में पढाई अनिवार्य की गई है। 

 

खबरें और भी हैं...