दैनिक भास्कर हिंदी: ड्रोन के माध्यम से विधानभवन में फहराया विदर्भ का ध्वज, लाठीचार्ज, एक घायल, कई गिरफ्तार

May 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उपराजधानी के विधानभवन पर पृथक विदर्भ का ध्वज फहराने निकलने विदर्भवादियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। लाठीचार्ज के दौरान अफरा-तफरी मची रही। इस दौरान एक युवक गंभीर जख्मी हुआ तो सैकड़ों आंदोलनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसमें एड. वामनराव चटप, राम नेवले, डॉ. श्रीनिवास खांदेवाले, एड. नंदा पराते शामिल है। हालांकि इस अफरा-तफरी में कार्यकर्ताओं ने ड्रोन के माध्यम से विधानभवन परिसर के एक पेड़ पर पृथक विदर्भ का झंडा फहराया। विदर्भवादियों ने अपने आंदोलन की इसे बड़ी जीत बताया।

फिर फूटा आक्रोश
उल्लेखनीय है कि पिछले काफी समय से पृथक विदर्भ की मांग चल रही है। पृथक विदर्भ देना तो दूर बल्कि बैकलॉग और बढ़ते जा रहा है। भाजपा ने चुनाव में आने से पहले पृथक विदर्भ देने का वादा किया था। लेकिन चार साल में भाजपा ने पृथक विदर्भ पर एक शब्द भी बोला है। ऐसे में विदर्भवादियों का रोष और बढ़ गया है। इस नाराजगी को प्रकट करने विदर्भ राज्य आंदोलन समिति के नेतृत्व में 14 विदर्भवादी संगठनों ने विधानभवन पर पृथक विदर्भ का ध्वज फहराने का आंदोलन किया। इसके लिए यशवंत स्टेडियम से भव्य मोर्चा निकाला गया। विदर्भवादी नेता व पूर्व विधायक एड. वामनराव चटप, विदर्ब राज्य आंदोलन समिति की कोअर कमेटी के वरिष्ठ सदस्य व अर्थशास्त्री डॉ. श्रीनिवास खांदेवाले, निमंत्रक राम नेवले, प्रबीर चक्रवर्ती, नागपुर जिला अध्यक्ष अरुण केदार, विदर्भ महिला आघाडी अध्यक्ष एड. नंदा पराते, पश्चिम विदर्भ महिला आघाडी की रंजना मामर्डे, एड. गोविंद भेंडारकर, शहराध्यक्ष राजू नागुलवार सहित सैकड़ों कार्यकता मोर्चे में शामिल हुए।

जय विदर्भ के फलक लेकर और घोषणाएं देते हुए कार्यकर्ता बैंक ऑफ महाराष्ट्र से झांसी रानी चौक, सीताबर्डी मेन रोड, लोहा पुल, टेकडी गणेश उडानपुल, जयस्तंभ चौक मार्ग होते हुए परवाना भवन चौक पहुंचे। कस्तूरचंद पार्क के सामने पुलिस ने कार्यकर्ताओं का मोर्चा रोक दिया। इस दौरान विधानभवन पर ध्वज फहराने का आह्वान किया गया। आह्वान अनुसार नेता व कार्यकर्ता बैरिकेट हटाकर ध्वज फहराने विधानभवन की ओर बढ़े। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की। कार्यकर्ता अधिक आक्रामक होकर आगे बढ़ने लगे, तब पुलिस ने बल का उपयोग कर लाठीचार्ज शुरू कर दिया। लाठीचार्ज के दौरान अफरा-तफरी मच गई।

इस दौरान रवि वानखेडे नामक युवक जख्मी हुआ। अन्य को भी छोटी-मोटी खरोंचे आयी। पुलिस को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने गिरफ्तारी शुरू कर दी। इस दौरान एड. वामनराव चटप, राम नेवले, डॉ. श्रीनिवास खांदेवाले, एड. नंदा पराते, प्रबीर चक्रवर्ती, अरुण केदार, रंजना मामर्डे, अ‍ॅड. गोविंद भेंडारकर, शहराध्यक्ष राजू नागुलवार सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। शाम को सभी कार्यकर्ताओं को छोड़ दिया गया।

अलग विदर्भ देने की सरकार में हिम्मत नहीं: चटप
एड. वामनराव चटप ने कहा कि पुलिस और राज्य सरकार का हम निषेध करते है। अलग विदर्भ देने की मोदी, गडकरी और फडणवीस में हिम्मत नहीं है। एक कार्यकर्ता इस आंदोलन में जख्मी हुआ है। हम इसका निषेध करते है। मानवाधिकार आयोग से इसकी शिकायत की जाएगी। इस अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।