comScore

ट्रक ने व्यापारी को कुचला , भीड़ ने चालक की पिटाई कर पुलिस को सौंपा

ट्रक ने व्यापारी को कुचला , भीड़ ने चालक की पिटाई कर पुलिस को सौंपा

डिजिटल डेस्क,  नागपुर।  भीषण सड़क हादसे में साड़ी विक्रेता की मौत हो गई। ताजबाग परिसर में ट्रक ने उसे कुचल दिया। हादसे के बाद गुस्साई भीड़ ने ट्रक चालक की पिटाई कर उसे पुलिस को सौंप दिया। सक्करदरा पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया है।  मूलत: पश्चिम बंगाल का रहने वाला तथा वर्तमान में कृष्णा लाज, महात्मा फुले मार्केट निवासी तुशांत सुकेंद्रनाथ भट्टाचार्य (31) साड़ी विक्रेता था। वह प.बंगाल से साड़ियां खरीदकर लाता था और नागपुर तथा नागपुर के आप-पास के क्षेत्रों में घूम-घूम कर साड़ियां बेचता था। हमेशा की तरह  तुशांत अपने दोपहिया वाहन क्र.-एम.एच.-31-बी.वाई.-1972 से ताजबाग परिसर में साड़ियाें की बिक्री तथा साड़ियों की उधारी वसूल करने निकला था। वहां से लौटते समय ताजबाग में ही बुलंद गेट के सामने ट्रक क्र.-एम.एच.-40-बी.एफ.-1403 के चालक विष्णु प्रसाद गुडन विश्वकर्मा (40), पारडी नागपुर निवासी ने लापरवाही से वाहन चला कर उसे टक्कर मार दी। हादसे में तुशांत गंभीर रूप से घायल हो गया। मेडिकल अस्पताल ले जाते समय अत्याधिक रक्तस्त्राव के चलते उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

भागने की फिराक में था चालक
हादसे के बाद ट्रक चालक भागने की फिराक में था,  लेकिन लोगों ने उसे दबोच लिया। पिटाई करने के बाद उसे  पुलिस को सौंप दिया। तुशांत के मित्र तथा गांव के रिश्तेदार गौतम शहा ने बताया कि, तुशांत करीब पांच-छह वर्ष से नागपुर में साडियों का धंधा कर रहा था। कभी-कभी उसका परिवार भी नागपुर आता था। तुशांत पांच वर्षीय बच्चे का पिता था। तुशांत की पत्नी तान्या गृहिणी है। हादसे की खबर िमलते ही तान्या समेत अन्य रिश्तेदार नागपुर पहुंचे। सोमवार की शाम को पोस्टमार्टम के बाद तुशांत का शव रिश्तेदार अपने गांव ले गए। 

हेलमेट पहना था 
गौतम ने बताया कि, तुशांत काम पर जाते समय हेलमेट लेकर जाता था। हादसे के दौरान भी तुशांत ने हेलमेट पहन रखा था। इसके बाद भी तुशांत की जान नहीं बच सकी। 

कुछ लोग साड़ियां समेटने में लगे रहे
टक्कर होते ही तुशांत गाड़ी से गिर गया। उसकी गाड़ी पर रखा साड़ियों का गट्ठा सड़क पर िगर गया। जब तुशांत सड़क पर खून से सनी हालत में पड़ा तड़प रहा था, तब कुछ लोग साड़ियां समेटने में लगे हुए थे। कुछ लोग चालक को पकड़ने के लिए दौड़ पड़े थे। 

कमेंट करें
mpvSl