comScore

निर्दलीयों की चांदी वाला रहा यह चुनाव - विधानसभा में दो गुनी संख्या , मैदान में उतरे थे 1400 निर्दलीय

October 26th, 2019 11:19 IST
निर्दलीयों की चांदी वाला रहा यह चुनाव - विधानसभा में दो गुनी संख्या , मैदान में उतरे थे 1400 निर्दलीय

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  इस विधानसभा चुनावों में निर्दलीयों ने भी खूब जलवा दिखाया। बीते विधानसभा के मुकाबले इस बार निर्दलीय विधायकों की संख्या करीब दो गुनी हो गई है। साल 2014 के विधानसभा चुनाव में सात निर्दलीय विधायक चुने गए थे। इनकी संख्या 13 तक पहुंच गई हैं। अपेक्षित सफलता न मिलने के बाद भाजपा अब इन निर्दलीय विधायकों पर डोरे डाल रही है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पहले ही कह चुके हैं कि 15 लोग उनके संपर्क में हैं। जबकि कांग्रेस-राकांपा भी दावा कर रही है कि 10 निर्दलिय विधायक जल्द हमारे साथ होंगे। इस साल के विधानसभा चुनावों में 1400 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में उतरे थे। जो कुल चुनाव लड़ने वाले 3237 उम्मीदवारों के 43 फीसदी से ज्यादा थे। 1400 निर्दलीय उम्मीदवारों में से सिर्फ 13 उम्मीदवार जीत हासिल कर सके हैं। यानी निर्दलीयों का स्ट्राइक रेट 0.92 फीसदी ही रहा। जीत के बाद निर्दलीय अक्सर सत्ता तक पहुंचने वाली पार्टी के करीब जाने की कोशिश करते हैं।

साल 2014 विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करने वाले 7 उम्मीदवारों में से 5 ने भाजपा को समर्थन दिया था। अधिकांश बागी बने हैं निर्दलीय विधायक इस बार भी ज्यादातर का झुकाव भाजपा की ही ओर है। ज्यादातर जीतने वाले निर्दलीय भी भगवा पार्टियों के ही बागी हैं जिन्हें गठबंधन के चलते इस बार टिकट नहीं मिला। राज्य में सबसे ज्यादा 45 निर्दलीयों ने साल 1995 विधानसभा चुनावों में सफलता पाई थी जबकि साल 2014 में सबसे कम 7 निर्दलीय उम्मीदवार विधानसभा तक पहुंचने में कामयाब हुए थे। फिर से बनेंगी भाजपाई मुंबई से सटे मीरा-भायंदर सीट पर भाजपा उम्मीदवार नरेंद्र मेहता को हराने वाली गीता जैन को पार्टी उम्मीदवार के सामने बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने का कारण भाजपा ने पार्टी से बाहर कर दिया था। अब निर्दलीय विधायक चुने जाने के बाद उन्होंने खुद को भाजपाई घोषित कर दिया है। जीत के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनसे सम्पर्क साधा था।

जीत हासिल करने वाले निर्दलीयों में मंजुला गावित साक्री, चंद्रकांत पाटील मुक्ताईनगर , रवि राणा बडनेरा आशीष जैस्वाल रामटेक , नरेंद्र भोंडेकर भंडारा , विनोद अग्रवाल गोंदिया , गजानन जोरगेवार चंद्रपुर , गीता जैन मीरा भायंदर, महेश बालदी उरण संजय मामा शिंदे करमाला राजेंद्र राऊत बार्सी प्रकाशन्ना आवडे इचलकरंजी राजेंद्र पाटील (याडरावकर) शिरोल शामिल हैं

कमेंट करें
bq0sT