कार्रवाई: हिरण का शिकार करनेवाले तीन गिरफ्तार

February 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुलचेरा। खेत परिसर के जंगल में शिकार के लिए करंट लगाने की जानकारी मिलते ही वनविभाग के अधिकारी व कर्मचारियों ने शनिवार की सुबह के दौरान गश्त लगाकर मृत हिरण बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों के नाम मुलचेरा तहसील के लभानतांडा गांव निवासी प्रमोद बानोत, गणेश बोडा व भीमा धारावत का समावेश है। वनविभाग ने दी जानकारी के अनुसार, लभानतांडा गांव के खेत परिसर के जंगल में वन्यजीवों के शिकार के लिए बिजली तार बिछाने की गोपनीय जानकारी मिलते ही कोपरअली के वनरक्षक जी. एस. मेश्राम ने संयुक्त वन व्यवस्थापन समिति के पदाधिकारियों को लेकर गश्त की गई। इस बीच आरोपियों द्वारा हिरण का मांस छुपाने का प्रयास करते समय तीन आरोपियों को गरफ्तार कर लिया। घटना की अधिक जांच मार्कंडा के वनपरिक्षेत्र अधिकारी भारती राऊत के मार्गदर्शन में क्षेत्र सहायक आई. पी. मांडवकर ने कर सभी आरोपियों को रविवार  को चामोर्शी न्यायालय में पेश करने पर न्यायालय ने तीनों आरोपियों को 14 दिन तक चंद्रपुर जेल में रखने का आदेश दिया। 

दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े

जंगली सुअर के शिकार के लिए खेत में गोला बारूद रखने के मामले पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आराेपियों के नाम आरमोरी के इंदिरानगर बर्डी निवासी संजय नामा केडेलवार (35) व अनिल मुखरू खेडकर (33) बताए जाते हैं। ब्रह्मपुरी पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार ब्रह्मपुरी तहसील के ग्राम निलज निवासी संतदास रामदास नखाते व जनार्दन विठोबा ठाकरे ने थाने में शिकायत दी कि 15 फरवरी को खेत में  बैल व गाय को चराने के लिए ले गए थे। जहां आरोपियों ने जंगली सुअर के शिकार के लिए निलज-पाचगांव खेत परिसर में बारूद भरे हुए गोले इधर उधर डालकर रखे थे। जंगली सुअर के बजाय वह बैल, गाय ने खाया। इस कारण वह गोला मुंह में ही फटने से बैल व गाय गंभीर रूप से घायल हो गए। फरियादी ने वनविभाग सूचना देने के साथ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया। अज्ञात आरोपियों की दोपहिया मौके पर बरामद हुई। उसके आधार पर जांच की गई। जिसके बाद उक्त दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने उनके खिलाफ धारा 429, 34 के तहत मामला दर्ज किया है। मामले की जांच पुलिस निरीक्षक रोशन यादव के मार्गदर्शन में चल रही है।