दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना मुक्त गांव चयन के लिए बनी तीन समितियां, इसे तरह होगा सिलेक्शन

June 16th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश सरकार ने कोरोना मुक्त गांव पुरस्कार के चयन के लिए तीन समितियों का गठन कर दिया है। बुधवार को सरकार के ग्रामीण विकास विभाग ने इस संबंध में शासनादेश जारी किया। इसके अनुसार तहसील स्तरीय समिति, जिला परिषद स्तरीय समिति और राजस्व विभाग स्तरीय समिति का गठन किया है।तहसील स्तर की समिति गट विकास अधिकारी की अध्यक्षता में बनाई गई है। यह समिति कोरोना मुक्त गांव बनाने के लिए ग्राम पंचायतों के 5 दस्ते के किए गए कामों का मूल्यांकन और अंक निर्धारित करेगी। समिति को सबसे अधिक अंक प्राप्त करने वाले 10 ग्राम पंचायतों की सूची 31 अगस्त 2022 तक जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पास भेजना होगा। इसके बाद जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की अध्यक्षता वाली जिला स्तरीय समिति ग्राम पंचायतों के कामों का मूल्यांकन और अंकों की जांच करेगी। इस समिति को सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली 3 ग्राम पंचायतों के नामों की सूची अभिप्राय और रिपोर्ट सहित संबंधित विभागीय आयुक्त के पास 15 सितंबर 2022 तक भेजना होगा। जिसके बाद विभागीय आयुक्त की अध्यक्षता वाली राजस्व विभाग स्तरीय समिति तहसील और जिला स्तरीय समिति के अंकों की जांच करेगी।

समिति को कोरोना मुक्त गांव योजना के तहत प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार के लिए ग्राम पंचयातों का चयन कर 30 नवंबर 2022 से पहले पुरस्कार की घोषणा करनी होगी। साथ ही समिति राजस्व विभाग स्तर पर दो अथवा दो से अधिक ग्राम पंचायतों के समान अंक होने पर संबंधित गांवों को पुरस्कार और विकास कामों की निधि आधा-आधा वितरित करने के लिए सरकार को सिफारिश करेगी। इसके पहले प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ ने कोरोना मुक्त गांव पुरस्कार योजना की घोषणा की थी। जिसके तहत कोरोना मुक्त गांवों को 22 मापदडों के आधार पर 50 अंक दिए जाएंगे। उन्होंने राजस्व विभाग स्तर पर प्रथम तीन कोरोना मुक्त गांवों को क्रमश: 50 लाख, 25 लाख और 15 लाख रुपए पुरस्कार देने की घोषणा की थी।

खबरें और भी हैं...