comScore

खेत में काम करने गई महिला मजदूर का बाघ ने किया शिकार, अधखाया शव मिला

खेत में काम करने गई महिला मजदूर का बाघ ने किया शिकार, अधखाया शव मिला

डिजिटल डेस्क,चंद्रपुर।  पास ही के ग्राम भगवानपुर (चोरटी)निवासी एक 45 वर्षीय महिला खेत में जाने के बाद वापस घर नहीं लौटी ।  सुबह खेत परिसर से कुछ दूरी पर उस महिला का अधखाया शव मिला है। बता दें कि गुरुवार को लापता महिला की तलाशी के दौरान खेत परिसर में बाघ के पगमार्क दिखाई दिए । ऐसे में बाघ के हमले की आशंका जतायी जा रही थी। इस समय वनविभाग के कर्मचारियों ने मौका पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल में भेज दिया है। घटना से परिसर में बाघ की दहशत फैली है।

जानकारी के अनुसार भगवानपुर(चोरटी) निवासी महिला कृषक देवकण्या गणपत चौधरी नामक(45) हमेशा की तरह अपने पति के साथ गांव से एक किमी दूरी पर स्थित अपने खेत में धान कटाई होने के बाद खेत में बचा कार्य करने गई थी। देर शाम तक वापस घर नहींलौटने पर परिजन व ग्रामीणों ने मिलकर उसकी तलाश शुरू की। इस समय खेत परिसर में महिला की टोकनी व खेती सामग्री दिखाई दी, लेकिन वह नजर आयी। खेत परिसर में बाघ के पगमार्क दिखने से ग्रामीणों ने बाघ के हमले की आशंका जताई थी। घटना की जानकारी मिलते ही वनविभाग की टीम, पुलिस टीम ने ग्रामीणों के साथ मिलकर महिला की तलाश शुरू की। देर रात तक महिला को जंगलव्याप्त परिसर में ढूंढा गया, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला था।   सुबह फिर से वनकर्मियों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर खोजबीन शुरू की। दौरान खेत परिसर से कुछ दूरी पर उसका शव दिखाई दिया। मौका पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए  सरकारी अस्पताल में भेज दिया। इस समय वनविभाग से बाघ का बंदोबस्त कर पीडि़त परिवार को तत्काल आर्थिक मदद देने की मांग ग्रामीणों ने की है।

जंगली सुअर के लिए लगाए जाल में फंसकर तेंदुए की मौत
मध्य चांदा वनविभाग अंतर्गत बल्लारशाह परिक्षेत्र के किन्ही बिट में शिकारियों द्वारा 13 नवंबर को जंगली सुअर का शिकार करने लगाए गए जाल में तेंदुआ फंस गया था, जिसमें तेंदुए की मौत हो गई। तेंदुए का शिकार  उजागर होते ही वनपरिक्षेत्र अधिकारी संतोष थिपे ने अपने टीम के साथ शिकारियों की सरगर्मी से तलाश शुरू की। घटना के 24  घंटे के भीतर चार आरोपियों को शिकर की सामग्री के साथ धरदबोचा। गिरफ्तार आरोपियों के नाम किन्ही निवासी दामोधर पैकन टेकाम(70), श्रावण खटरू आत्राम(45), रमेश किशन गेडाम(35), एकनाथ विठोबा झाडे(51) है। इनमें श्रावण आत्राम और एकनाथ झाडे यह वनविभाग के रोजंदारी पर रोपवन चौकीदार है। उनके पास से अपराध में उपयोग किए गए हथियार, जाल जब्त किए।   सभी गिरफ्तार आरोपियों को अदालत में पेश किया गया। इस मामले की जांच मध्य चांदा वनविभाग के उपवनसंरक्षक गजेंद्र हिरे, सहायक वनसंरक्षक प्रितमसिंग कोडापे के मार्गदर्शन में बल्लारशाह के आरएफओ संतोष थिपे कर रहे है।  
 

कमेंट करें
T5Z0x