दैनिक भास्कर हिंदी: मार्च 2020 को वर्धा फ्लाइओवर से होगा गाड़ियों का आवागमन , काम अंतिम चरण में

November 7th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। नागपुर शहर के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट में शामिल मेट्रो का वर्धा रोड़ फ्लाइओवर के लिए नगरवासियों को और इंतजार करना पड़ेगा। प्रशासन के अनुसार इसे वर्ष 2020 के मार्च माह तक साकार किया जानेवाला है। हालांकि मेट्रो प्रोजेक्ट के शुरूआत में इसका निर्माण वर्ष 2019 के आखिर तक होने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन वर्तमान स्थिति में इसका काम पूरा नहीं हो सका है।

नागपुर शहर में 3 वर्षों से मेट्रो का काम चल रहा है। मेट्रो रेल को शहर की चारों दिशा में चलाया जानेवाला है। इसमें एक रूट बर्डी से खापरी का है। जो वर्धा रोड से होकर जाता है। वर्धा रोड नेशनल हाईवे ऑथरीटी के अंतर्गत आता है, लेकिन मेट्रो का रूट यहीं से बीचों-बीच बनना है। ऐसे में मेट्रो ने अजनी से प्राइड हॉटेल तक राष्ट्रीय महामार्ग का विकास करने का भी जिम्मा लिया है। प्लानिंग के अनुसार डबल डेकर में सबसे उपर मेट्रो फिर नीचे हाईवे और सबसे नीचे लोकल सड़क रहनेवाली है। इस कार्य को पूरा करने के लिए एनएचआई को मेट्रो को 573 करोड़ रुपये देना है।

काम शुरू होने के बाद से अब तक मेट्रो को एनएचएआई की ओर से पहले 100 करोड़ मिले थे। इसके बाद महा मेट्रो को अजनी चौक से हॉटेल प्राइड तक फ्लाइओवर तथा इसे जोड़नेवाला मनीष नगर फ्लाइओवर व रेलवे उड्‌डानपुल के लिए 165 करोड़ की राशि मिली थी। जिससे अब तक मेट्रो के खाते में एनएचआई से कुल 265 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। हालांकि अभी भी 308 करोड़ मेट्रो को मिलना बाकी है। अधिकारियों के अनुसार इसका निर्माण पहले 2019 में होना था लेकिन एनएचए की ओर से कुछ कंडीशन सामने रखी गई थी। ऐसे में कुछ समय के लिए यह काम धीमा पड़ गया था। जिससे की अभी इस फ्लाइओवर का निर्माण अगले साल मार्च माह पर गया है। हालांकि इस रूट से मेट्रो शुरू होकर महीनों हो गये हैं। लेकिन हायवे शुरू होना बाकी है। इसके शुरू होने के बाद शहर को बहुत ज्यादा फायदा मिलनेवाला है। फ्लाइओवर निर्माण के बाद एक ही वक्त में तीन ट्रैफिक का आवागमन होगा। जिसमें मेट्रो, हाईवे व स्थानीय वाहन शामिल रहेंगे। 

हाईवे से मनीषनगर रहेगा टच  
उक्त कार्य अंतर्गत अजनी चौक से प्राइड तक बन रहे फ्लाइओवर के नेशनल हायवे से मनीषनगर फ्लाइओवर को जोड़ने से मनीष नगर टच में रहेगा। यह फ्लाइओवर रेलवे क्रासिंग के ऊपर से रहेगा। ऐसे में मनीषनगर की दिशा से आनेवाले वाहनधारको को रेलवे क्रासिंग पर बिना रूके सीधे नेशनल हाईवे से जोड़ा जाएगा।

2020 तक काम पूरा करने का टारगेट
वर्ष 2019 में उपरोक्त फ्लाइओवर का काम तेजी से किया जा रहा है। वर्ष 2020 के मार्च महीने तक इसे पूरा करने का लक्ष्य मेट्रो ने अपने सामने रखा है।  अखिलेश हलवे, डीजीएम (कॉरपोरेट) मेट्रो नागपुर 

खबरें और भी हैं...