comScore

रफ्तार से दौड़ेंगी गाडिय़ां, एक्सीडेंट नहीं होना चाहिए - गड़करी

रफ्तार से दौड़ेंगी गाडिय़ां, एक्सीडेंट नहीं होना चाहिए - गड़करी

केन्द्रीय मंत्री ने कुरई घाटी पहुंचकर किया सड़क का निरीक्षण, अण्डरपास देखा
डिजिटल डेस्क  सिवनी ।
केन्द्रीय सड़क,परिवहन एवं राजमार्ग विभाग मंत्री नितिन गड़करी शुक्रवार को मोहंगाव-खवासा के बीच निर्माणाधीन फोरलेन सड़क का निरीक्षण करने कुरई घाटी पहुंचे। नेशनल हाईवे 44 (पुराना नाम एनएच-7) पर बन रही इस सड़क के निरीक्षण के दौरान वे रूखड़ में जानवरों के लिए बनाए गए 14 सौ मीटर लंबे अंडरपास के नीचे भी गए। केन्द्रीय मंत्री श्री गड़करी ने इस दौरान अफसरों को कई निर्देश दिए। पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि सड़क अच्छी बन गई है और रफ्तार बढऩे से मुझे खुद एक्सीडेंट का डर लग रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक्सीडेंट नहीं होना चाहिए। इसके लिए ब्लैक स्पॉट व एक्सीडेंट प्वाइंट चिंहित कर वहां काम कराया जाए।
ढाई घंटे में जबलपुर
केन्द्रीय मंत्री श्री गड़करी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट को मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। सड़क का कुरई घाटी का हिस्सा शेष रह गया है। फोरलेन बनने से अब वाहनों की रफ्तार बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि मुझे तो यह भी पता चला है कि लोग नागपुर से जबलपुर ढाई घंटे में पहुंच गए। रीवा से खवासा खण्ड के 410 किमी के 4 लेन के उन्नयन के लिए एनएचएआई ने 728 करोड़ का काम फोरलेन उन्नयन पर पूर्व में खर्च किए हैं। हाल ही में करीब 4300 करोड़ रुपए की लागत से रीवा से लखनादौन खण्ड में काम पूरा किया गया है। मोहगांव-खवासा के बीच 960 करोड़ रुपए की लागत से निर्माण कार्य जारी है, जो जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।
कुरई-खवासा की चिंता करें
केन्द्रीय मंत्री गड़करी ने बताया कि अफसरों को कुरई-खवासा की चिंता करने को कहा गया है। कुरई-खवासा के बीच से सड़क निकली है और लोकल लोग प्रभावित हुए हैं। यहां के लोगों ने निर्माण के दौरान सहयोग भी दिया है। दोनों जगह सर्विस रोड़ का निर्माण किया जा रहा। फुटओवर ब्रिज भी बनाया जा रहा ताकि लोग उससे आना-जाना कर सकें और हादसे का डर न रहे। एक्सीडेंट रोकना मेरी पहली प्राथमिकता है। एक्सीडेंट रोकने जरूरत पड़ी तो ऐसे फुटओवर ब्रिज बनाए जाएंगे, जिन पर लिफ्ट भी लगा देंगे ताकि लोग अपने दोपहिया वाहन भी उनसे ले जा सकें।  
पौन घंटे पहले पहुंच गया
30 दिसंबर से टुरिया में रूके केन्द्रीय मंत्री गड़करी ने बताया कि वे 31 दिसंबर को एक कार्यक्रम में शामिल होने नागपुर गए थे। सड़क का काम बेहतर हुआ है और रफ्तार से गाडिय़ां चल रहीं। मैं भी कार्यक्रम में पौन घंटे पहले पहुंच गया। इस सड़क पर चलने में मुझे खुद एक्सीडेंट का डर लग रहा है।
अलोनिया नाका की जानकारी मांगी
पत्रकारों से चर्चा के दौरान उन्हें बंडोल के पास अलोनिया स्थित टोलनाका में हादसे होने की जानकारी दी गई तो उन्होंने बताया कि अलोनिया टोलनाका के संबंध में अधिकारियों से जानकारी मांगी है। जानकारी मिलने के बाद अलोनिया टोलनाका को लेकर उचित निर्णय लिया जाएगा।
वाइल्डलाइफ की चिंता
केन्द्रीय मंत्री श्री गड़करी ने बताया कि मोहगांव-खवासा प्रोजेक्ट में वाइल्डलाइफ का विशेष ध्यान रखा गया है। देश की अपने तरह की यह पहली सड़क है। जानवरों के लिए 14 अण्डरपास बनाए जा रहे हैं, जिनकी कुल लंबाई 3415 मीटर है। इसके अलावा एक मेजर ब्रिज व 10 माइनर ब्रिज का निर्माण किया गया है। पेंच टाइगर रिजर्व के लगभग 9 किमी हिस्से में वन्य प्राणियों की सुरक्षा तथा निर्वाध आवागमन सुनिश्िचित होगा।केन्द्रीय मंत्री के निरीक्षण के दौरान सांसद ढालसिंह बिसेन, विधायक दिनेश राय मुनमुन, भाजपा जिलाध्यक्ष आलोक दुबे सहित अन्य नेता भी पहुंचे। इस दौरान एनएचएआई के वरिष्ठ अफसर व निर्माण कंपनी के अधिकारी भी मौजूद रह
 

कमेंट करें
O7E2T