दैनिक भास्कर हिंदी: फडणवीस सरकार के अंतिम बजट में किसानों को खुश करने की कोशिश, जानिए कहां से आएगा पैसा, कहां होगा खर्च

June 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य की फडणवीस सरकार के अंतिम बजट में वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने सभी को खुश करने की कोशिश की है। विधानसभा चुनाव से चार महीने पहले पेश बजट में किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है। बजट में सूखे से निपटने पर भी खास जोर दिया गया है। मंगलवार को राज्य के वित्तमंत्री मुनगंटीवार ने विधानसभा और वित्त राज्य मंत्री दीपक केसरकर ने विधान परिषद में राज्य का अतिरिक्त बजट पेश किया। इसके पहले लोकसभा चुनाव से पूर्व फरवरी में अंतरिम बजट पेश किया गया था। वित्तमंत्री ने 20,292.94 करोड़ के घाटे का बजट पेश किया। सरकार की अनुमानित राजस्व प्राप्ति 3,14,640.12 करोड़ और खर्च 3.34,933.94 करोड़ रहने का अनुमान है। राज्य सरकार पर वर्ष 2019-20 के दौरान कर्ज का बोझ बढ़ कर 4,71, 642 करोड़ पहुंचने का अनुमान है। बजट में राज्य सरकार का सर्वाधिक जोर कृषि पर रहा है। सिंचाई सुविधा और पेयजल के  जलसंसाधन विभाग के लिए 12 हजार 597 करोड़ 89 हजार रुपए का प्रावधान किया है। साथ ही जलयुक्त शिवार अभियान के लिए 8 हजार 946 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। राज्य में चार कृषि विश्वविद्यालयों के लिए 200 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है।