दैनिक भास्कर हिंदी: गठबंधन तोड़ने के मूड में नहीं हैं उद्धव, बोले- बीजेपी निभाए वादा

November 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश में नई सरकार बनाने के लिए भाजपा और शिवसेना के बीच जारी टकराव के बीच पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग पर अडिग हैं। गुरुवार को उद्धव ने शिवसेना के विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं युति नहीं तोड़ना चाहता, लेकिन भाजपा शिवसेना को ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद देने का वादा पूरा करें। उद्धव ने मातोश्री में पार्टी विधायकों के साथ बैठक की। उद्धव ने बैठक में विधायकों को मोबाइल फोन लाने पर पाबंदी लगाई थी। उद्धव ने सभी विधायकों को अगले दो दिनों तक मुंबई में रुकने का निर्देश दिया है। उद्धव ने विधायकों से पूछा कि युति के बीच जो स्थिति पैदा हुई है इसमें मेरी भूमिका गलत है क्या? इस पर विधायकों ने कहा कि आप जो फैसला करेंगे वह हम सबको स्वीकार होगा। इसके बाद उद्धव ने कहा कि थोड़ा इंतजार कीजिए मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। उद्धव ने कहा कि हम भाजपा से केवल यही चाहते हैं कि जो तय हुआ है उसके अनुसार ही शिवसेना को सत्ता में भागीदारी मिले। उद्धव ने कहा कि 50-50 फार्मूले को लेकर यदि मुझे छूठा साबित करने की कोशिश होगी तो यह उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का शिवसेना को मुख्यमंत्री पद देने का दावा नहीं करने वाला बयान एकदम गलत है। 

टूट के डर से शिवसेना ने विधायकों को होटल में रुकाया 

सरकार बनाने को लेकर जारी गतिरोध के बीच शिवसेना को अपने पार्टी के विधायकों के टूटने का डर है। हालांकि शिवसेना के नेता इससे इंकार कर रहे हैं। उद्धव के निर्देश के बाद पार्टी के सभी विधायकों को उपनगर बांद्रा में स्थित रंगशारदा होटल में ठहराया गया है। शिवसेना के एक विधायक ने बताया कि हमें अगले दो दिनों तक मुंबई में रुकने को कहा गया है। शिवसेना विधायकों को एक होटल में ठहराए जाने पर शिवसेना के सांसद संजय राऊत ने कहा कि राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है। ऐसी स्थिति में सभी विधायकों का एक साथ होना जरूरी है। राऊत ने कहा कि नवनिर्वाचित विधायकों को मुंबई में रहने के लिए अभी आवास आवंटित नहीं हुआ है। इसलिए पार्टी का कर्तव्य है कि मुंबई में आने वाले विधायकों के रहने और भोजन की व्यवस्था करे। शिवसेना के विधायक व राज्य मंत्री गुलाबराव पाटील ने कहा कि जिसको विधायकों को तोड़ना है, वह हमारे सामने आए। शिवसेना के विधायक सब्जी मंडी में थोड़े ही खड़े हैं। वहीं विधानसभा में शिवसेना के मुख्य सचेतक सुनील प्रभु ने कहा कि मौजूदा राजनीतिक स्थिति में सभी विधायकों का एकजुट रहना जरूरी है। इसलिए सभी विधायक एक साथ रंगशारदा होटल में रहेंगे। इस बीच विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने कहा कि विधायकों को तोड़ने के लिए प्रलोभन दिया जा रहा है। हमारे (कांग्रेस) कुछ विधायकों को भी भाजपा की तरफ से फोन आए हैं। पर भाजपा अपने उदेश्य में सफल नहीं होगी।  
 

खबरें और भी हैं...