दैनिक भास्कर हिंदी: उद्धव ने कहा - कोरोना संकट में अकेले लड़ने की बात करेंगे तो लोग जूते मारेंगे, पटोले बोले - भीतर का शिवसैनिक जागा

June 20th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना पक्ष प्रमुख तथा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आगामी चुनाव अकेले लड़ने की घोषणा करने वाली महाविकास आघाड़ी की सहयोगी कांग्रेस पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के कारण देश और महाराष्ट्र में लोग बेचैन हैं। हमने लोगों की बेचैनी को ध्यान में रखें बिना केवल अकेले चुनाव लड़ने और अपने दम पर सरकार बनाने की बात होगी तो लोग जूते मारेंगे। लोग बोलेंगे कि सत्ता और स्वबल अपने पास रखिए। पहले बताइए कि रोजगार और रोजीरोटी कैसे देंगे? इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने पार्टी के आगामी नगर निकाय और विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने की घोषणा की थी। शनिवार को मुख्यमंत्री ने शिवसेना के स्थापना दिवस पर शिवसैनिकों को ऑनलाइन संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के बावजूद कुछ दल अकेले लड़ने के लिए स्वबल का नारा दे रहे हैं। लेकिन हमारे लिए स्वबल का नारा केवल चुनाव नहीं बल्कि अभिमान, न्याय और अधिकार के लिए लड़ना है। शिवसेना ने अपने स्थापना दिवस पर अकेले लड़ने का नारा नहीं दिया है बल्कि कोरोना से निपटने का आह्वान किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवसेना ने भी एक भूमिका तय की है। शिवसेना सत्ता के लिए कभी लाचार नहीं होगी। लेकिन हम किसी की पालकी भी नहीं ढोएंगे। हम स्वाभिमान से आगे बढ़ेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाविकास आघाड़ी का गठबंधन कितने दिन चलेगा। यह आगे-आगे देखते रहिए।  

हिंदुत्व किसी की पेटेंट कंपनी नहीं 

शिवसेना के हिंदुत्व पर सवाल उठाने वाली भाजपा पर भी मुख्यमंत्री ने पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिंदुत्व किसी की पेटेंट कंपनी नहीं है कि यह उनकी ही रहेगी। शिवसेना के लिए हिंदुत्व मतलब राष्ट्रीयता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवसेना ने भाजपा के साथ युति को छोड़कर महाविकास आघाड़ी में आई है तो कुछ लोगों को गलतफहमी हो गई है। उन्हें लग रहा है कि शिवसेना ने हिंदुत्व को छोड़ दिया है। लेकिन हिंदुत्व हमारे दिल में है। मुख्यमंत्री ने भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोगों की सत्ता चली गई है इसलिए उनके पेट में दर्द हो रहा है। लेकिन जब जरूरत पड़ेगी तो मैं उन्हें राजनीतिक दवाई दूंगा। 

मुख्यमंत्री के भीतर का शिवसैनिक जाग गया होगा - पटोले 

मुख्यमंत्री के बयान पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले जवाब दिया है। पटोले ने कहा कि हमने पिछले डेढ़ सालों में मुख्यमंत्री को कभी भी इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते हुए नहीं सुना है। मुख्यमंत्री अपनी पार्टी शिवसेना के स्थापना दिवस पर शिवसैनिकों को संबोधित कर रहे थे, इसलिए शायद मुख्यमंत्री के भीतर का शिवसैनिक जाग गया होगा। वे शिवसेना के मंच से मुख्यमंत्री के रूप में नहीं बल्कि पक्ष प्रमुख के रूप में बोल रहे थे यह उनकी स्टाइल है। पटोले ने कहा कि राज्य में कांग्रेस के अलावा भाजपा ने भी अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की है। इसलिए जब तक यह स्पष्ट नहीं होता है कि मुख्यमंत्री का रूख वास्तव में किस दल की ओर था तब तक कोई प्रतिक्रिया देना उचित नहीं होगा। दूसरी तरफ राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा प्रदेश के अल्पसंख्यक विकास मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने स्पष्ट संकेत दिया है कि आगामी समय में शिवसेना क्षेत्रीय दलों को एकजुट करने में मदद करेगी।
 


 

खबरें और भी हैं...