दैनिक भास्कर हिंदी: 32 लाख रुपए खर्च कर सोलर पैनल लगाएगी यूनिवर्सिटी

March 19th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आर्थिक अनियमितताओं के काले बादलों के बीच घिरे राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के प्रशासन की गलत नीतियों से विद्यार्थियों के पैसों से भरी यूनिवर्सिटी की तिजोरी खुल कर लुटाई जा रही है। परीक्षा भवन से पैसे गायब होने, ब्लैकलिस्टेड कंपनी के शेयर खरीदने, एडवांस रकम का हिसाब न लेने जैसे गंभीर मामलों के बीच नागपुर यूनिवर्सिटी ने 32 लाख रुपए के खर्च से अपने परीक्षा भवन और लक्ष्मीनारायण इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की छतों पर सोलर पैनल लगाने का निर्णय लिया है। इसके लिए निधि मंजूर कराने के लिए यूनिवर्सिटी ने  मैनेजमेंट काउंसिल की तत्काल बैठक बुलाई है। यूनिवर्सिटी ने सोलर पैनल लगाकर बिजली बचत करने के लिए यह तरकीब जुटाई है। यूनिवर्सिटी का कहना है कि सोलर पैनल लगाकर बिजली बचत की जा सकेगी।

जानकारी के अनुसार, यूनिवर्सिटी ने राज्य सरकार की सोलर सब्सिडी स्कीम में मुफ्त में यह सेट-अप लगाने की जगह, अपने जनरल फंड से इसका खर्च करने की तैयारी की है। जबकि मैनेजमेंट काउंसिल सदस्य विष्णु चांगदे व अन्य ने इसे सरकारी सब्सिडी से लगाने की मांग की थी। इसके लिए यूनिवर्सिटी को ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले और डिस्ट्रिक्ट प्लानिंग एंड डेवलपमेंट काउंसिल (डीपीडीसी) के साथ समन्वय स्थापित करना था। बावनकुले ने नागपुर यूनिवर्सिटी से इस दिशा में एक प्लेन प्रस्ताव भेजने को कहा था, लेकिन नागपुर विवि के अधिकारियों को लगा कि उन्होंने इस दिशा में डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) मांगा है, ऐसे में यूनिवर्सिटी की ओर से ही यह प्रस्ताव लंबित रह गया। 

हर माह 24 लाख 21 हजार बिल
नागपुर विवि में हाईटेंशन और लो टेंशन कैटेगिरी की बिजली आपूर्ति होती है। नागपुर विवि अपने सभी इमारतों के लिए कुल मिला कर 24 लाख 21 हजार 611 रुपए बिजली का बिल प्रतिमाह अदा करता है। परीक्षा विभाग और एलआईटी में सोलर पैनल लगाने से विवि का यह खर्च काफी हद तक कम हो जाएगा, लेकिन इसके लिए की जा रही तैयारियों में ही विवि की फिजूलखर्ची खुल कर सामने आ रही है।