भांडाफोड़: बेहद कम कीमतों पर मंहगे मोबाइल बेचने का देते थे  झांसा

July 21st, 2022

-    ग्राहकों को भेजते थे पुराने फोन 
-    खोल रखा था कॉल सेंटर 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सोशल मीडिया पर नामी कंपनियों के मंहगे मोबाइल बेहद कम कीमत पर बेंचने की झांसा देकर लोगों को बंद पड़े पुराने फोन भेजने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए मुंबई पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी पिछले पांच सालों से ठगी का यह कारोबार अंजाम दे रहे थे और उन्होंने इसके लिए कॉल सेंटर खोल रखा था जिसमें 20 लोग काम करते थे। छापेमारी के दौरान पुलिस ने 3199 पुराने मोबाइल फोन बरामद किए हैं जिन्हें ग्राहकों को भेजा जाना था। पुलिस उपायुक्त संग्रामसिंह निशानदार ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर अपराध शाखा की टीम ने मालाड के काचपाडा इलाके में स्थित राहील इंपेक्स की दूसरी मंजिल पर छापा मारा तो वहां बाकायदा लोगों से ठगी के लिए चल रहे कॉल सेंटर का खुलासा हुआ। आरोपी फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि पर चंदा इंटरप्राइजेस नाम से विज्ञापन देते थे। विज्ञापन में लोगों को ओप्पो रेनो जैसे 30-40 हजार रुपए की कीमत में आने वाला मोबाइल फोन सिर्फ 4299 रुपए में देने का वादा किया जाता था। लोगों का भरोसा जीतने के लिए उन्हें कैश ऑन डिलिवरी का विकल्प दिया जाता था। इसके बाद जो लोग लालच में फंसकर विज्ञापन में दिए गए नंबर पर संपर्क करते थे उनसे पता लेकर उन्हें माइक्रोमैक्स, वीडियोकॉन, एप्पल ट्री आदि कंपनियों के पुराने मोबाइल पैक कर कुरियर से भेज दिया जाता था। लोग कुरियर मिलने के बाद भुगतान कर देते थे लेकिन बाद में पैकेट खोलने पर उन्हें ठगी का एहसास होता था। इसके बाद संपर्क करने पर आरोपी अलग-अलग बहाने बनाकर लोगों को झांसा देते रहते थे। छापेमारी के दौरान पुलिस ने 3199 मोबाइल फोन जब्त किए हैं जिनकी कीमत 1 करोड़ 37 हजार 52 हजार 501 रुपए है। मामले में पुलिस ने राहिल रांका और सिद्धेश तुषार नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जिन्हें पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस इस बात की छानबीन कर रही है कि आरोपियों ने इस तरह कितने लोगों से ठगी की है।