दैनिक भास्कर हिंदी: विश्व युद्ध के विंटेज विमान ने देखने वालों को किया दंग, जानिए - दुनियाभर में क्यों प्रभावित हुई इंडिगो की उड़ानें

November 5th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। दुनिया की सैर पर निकला द्वितीय विश्व युद्ध का विंटेज विमान 4 नवंबर को नागपुर पहुंचा। भारत के एयर स्पेस में इस विमान ने कोलकाता से प्रवेश किया। अब तक इस विमान ने विश्व भ्रमण अभियान में करीब 27 हजार मील की दूरी तय कर ली है। वहीं करीब 29 देशों के 100 से ज्यादा स्थानों पर लैंड कर चुका है। जानकारी के अनुसार द्वितीय विश्व युद्ध का विंटेज सिल्वर स्पिट फायर विमान भारत की एयर स्पेस में शनिवार 2 नवंबर को कोलकाता पहुंच था। इसके बाद सोमवार 4 नवंबर को वह सोनेगांव एयरफोर्स स्टेशन पहुंचा। सोनेगांव वायुसेना स्टेशन के स्टेशन कमांडर ग्रुप कैप्टन एस. के. तिवारी ने नागपुर पहुंचे विमान के पायलट स्टीव ब्रुक और मैट जोन्स का स्वागत किया। दुनिया के ऐतिहासिक भ्रमण पर निकले दोनों पायलेट ने सोनेगांव वायुसेना स्टेशन के प्रमुख अधिकारियों के साथ प्रतिष्ठित एकल इंजन वाले विमान की सैर के बहुमूल्य अनुभव को शेयर किया। इस विमान ने विश्व भ्रमण के इस अभियान की शुरुआत अगस्त में इंग्लैंड से की थी। पायलटों ने उन देशों के लिए एक योजना बनाई, जिसमें द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सिल्वर स्पिट फायर विमान ने उड़ान भरी थी। भारत के आसमान में लोगों को स्पिट फायर विमान करीब 62 साल बाद देखने को मिला। देश की नई पीढ़ी को स्पिट फायर विमान की अचूक दृष्टि और आवाज से परिचित कराना उद्देश्य है।