-4 घंटे में 5 इंच मूसलाधार, मौके पर पहुँचा प्रशासन: धारकुंडी आश्रम में भरा पानी, मचा हड़कंप

July 21st, 2022

डिजिटल डेस्क सतना। जिले के मझगवां तहसील इलाके में 4 घंटे के दौरान तरकीबन 5 इंच मूसलाधार बारिश से गुरुवार की दोपहर धारकुंडी स्थित श्रीपरम हंस आश्रम धारकुंडी  में सैलाब आ गया। जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस पवित्र स्थल में अनेक साधु-संत निवास करते हैं। गनीमत थी सैलाब दोपहर 4 बजे के करीब आया। किसी भी प्रकार की जन-धन हानि नहीं हुई, लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सैलाब भयावह था। लगभग 30 फीट ऊंचाई से नीचे गिर कर बहते बाढ़ के पानी के जिसने देखा कांप उठा।
स्थिति नियंत्रण में-
वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। उल्लेखनीय है, आश्रम के मध्य में संकरी सी एक सदानीरा नदी बहती है। नदी का उद्गम पास ही स्थित एक गुफा से है। भीषण गर्मी में भी गुफा से निरंतर जलधारा रिसती रहती है,जो कुंड में गिरकर नदी का आकार लेती है। आश्रम के बाहर यह जलधारा लुप्त होकर भूमिगत हो जाती है और आगे चल कर उत्तर प्रदेश में बरदहा नदी से मिल जाती है।
क्यों आई ये नौबत-
चालू मानसून सीजन में जिले में अब तक सर्वाधिक 12 इंच बरसात इसी इलाके में हुई है,जहां तलहटी में धारकुंडी आश्रम स्थित है। ग्रामीणों ने बताया कि धारकुंडी के पास ही अमुआ और अंधराखोह नामक दो बड़े बांध स्थित हैं। लगभग 40-40 वर्ष पुराने इन बांधों में भारी शिल्ट जमा होने से बांध उथले हो गए हैं। इन बड़े जलाशयों में अमुआ, रसइंया और बेधक के जंगलों का पानी तो आता है लेकिन बांधों में जल भंडारण शक्ति खत्म हो जाने के कारण अबकि बारिश का पानी एक प्राकृतिक नाले से धारकुंडी आश्रम के अंदर सैलाब बन कर टूटा।