दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम ने कहा- 2018 की जनसंख्या के आधार पर गांवों में शुरू किए जाएं पानी के टैंकर 

May 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश में सूखा प्रभावित गांवों में पीने के लिए पानी का टैंकर शुरू करते समय साल 2011 की जनसंख्या के बजाय साल 2018 की जनसंख्या के आधार पर जलापूर्ति की जाएगी। जानवरों के लिए भी इसी तरह से पानी का नियोजन किया जाएगा। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रशासन को यह निर्देश दिए हैं। गुरुवार को वर्षा पर मुख्यमंत्री ने ऑडियो ब्रिज के जरिए बीड़ और परभणी जिले के सरपंच, ग्रामसेवक, गट विकास अधिकारी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी और जिलाधिकारी से सूखा पर उपाय योजना के संबंध में संवाद साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीड़ में जानवरों की संख्या को ध्यान में रखते हुए चारा छावनी शुरू करके पानी उपलब्ध कराया जाए। मुख्यमंत्री ने बताया कि बीड़ के सभी 11 तहसीलों में सूखा घोषित किया गया है। परभणी के 6 तहसीलों में सूखा घोषित किया गया है। बीड़ में 852 और परभणी में 58 टैंकर शुरू है। बीड़ की 11 तहसीलों में 600 शासकीय चारा छावनी शुरू है।

चारा छावनियों में 3 लाख 87 हजार 616 बड़े जानवर और 31 हजार 211 छोटे जानवर कुल 4 लाख 18 हजार 827 जानवर हैं। जबकि परभणी में अब तक एक भी चारा छावनी शुरू करने की जरूरत नहीं पड़ी है। उन्होंने बताया कि बीड़ में सूखा प्रभावित 1402 गांवों के 7 लाख 84 हजार 143 किसानों के बैंक खाते में 428.39 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। परभणी के सूखा प्रभावित 479 गांवों के 2 लाख 54 हजार 589 किसानों के बैंक खाते में 181.47 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। बीड़ के 4 लाख 33 हजार 796 किसानों को फसल बीमा योजना के तहत 195 करोड़ रुपए दिए गए हैं। परभणी में 1 लाख 41 हजार 352 किसानों को 61.85 करोड़ रुपए फसल बीमा योजना का लाभ मिला है।

बीड़ में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत पंजीकृत 2.70 लाख किसानों में से 80 हजार किसानों को पहली किश्त के रूप में 15.95 करोड़ रुपए दिए गए हैं। बाकी किसानों को लाभ देने के लिए कार्यवाही शुरू है। परभणी में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत 1.20 लाख किसानों में से 34 हजार 500 किसानों के बैंक खाते में 7 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। बीड़ में नरेगा के तहत शुरू 1857 काम 33 हजार 769 मजदूर कर रहे हैं। जिले में  8328 कामा सेल्फ पर हैं। परभणी में नरेगा के तहत 4 हजार 542 मजदूर 660 काम कर रहे हैं। परभणी में 9 हजार 802 काम सेल्फ पर है। मांग के अनुसार ये काम शुरू किए जाएंगे।