दैनिक भास्कर हिंदी: दो लोगों का फर्जी एनकाउंटर कर अंबानी धमकी मामला सुलझाना चाहता था वाझे!

April 14th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अंबानी धमकी मामले की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को संदेह है कि निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे ने दो लोगों को फर्जी मुठभेड़ में मार गिराने की योजना बनाई थी, ताकि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट विस्फोटक सामग्री रखी कार मिलने के मामले से उन्हें जोड़ा जा सके। सूत्रों ने अनुसार इस तरीके से ‘मुठभेड़ विशेषज्ञ वाझे मामले को सुलझाने का दावा करना चाहता था, लेकिन उसकी यह योजना धरी रह गई। सूत्रों ने कहा कि मामले की जांच कर रहे राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को ठाणे में वाझे के घर की तलाशी के दौरान एक व्यक्ति का पासपोर्ट बरामद हुआ था, जिसकी पहचान नहीं बताई गई है। उन्होंने कहा कि पहले शुरुआत में मारूति ईको वाहन में फर्जी मुठभेड़को अंजाम देने योजना बनाई गई। 

औरंगाबाद से चोरी हुआ था वाहन 

यह वाहन बीते साल नवंबर में महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर से चोरी हुआ था। सूत्रों ने कहा कि जांच एजेंसी को संदेह है कि दो लोगों को मारकर वाझे विस्फोटक सामग्री मिलने के मामले को सुलझाने का दावा कर तारीफ पाना चाहता था, लेकिन यह योजना अंजाम तक नहीं पहुंच पाई। एनआईए ने इससे पहले कहा था कि वाझे ''कुछ बड़ा'' करने की योजना बना रहा था। सूत्रों ने कहा कि एजेंसी फर्जी एनकाउंटरथ्योरी की जांच कर रही है। गौरतलब है कि 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई में अंबानी के घर के बाहर एक एसयूवी मिली थी, जिसमें विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी। उस एसयूवी के मालिक बताए गए कारोबारी मनसुख हिरन का पांच मार्च को ठाणे में एक नहर से शव मिलने के बाद मामले में नया मोड़ आ गया था। इसके बाद 13 मार्च को एनआईए ने वाझे को गिरफ्तार कर लिया था।  
 

खबरें और भी हैं...