दैनिक भास्कर हिंदी: गौतम गंभीर का बयान, अपने मनमुताबिक सीरीज नहीं खेल सकते धोनी

September 27th, 2019

हाईलाइट

  • धोनी पर गौतम का गंभीर बयान
  • अपने मनमुताबिक नहीं खेल सकते सीरीज- गंभीर
  • धोनी से बात करें सैलेक्टर्स
  • सन्यास हर किसी का निजी फैसला
  • युवा क्रिकेटर पर प्रेशर बनाना सही नहीं

डिजिटल डेस्क नई दिल्ली। इन दिनों टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ब्रेक पर हैं। वर्ल्ड कप के बाद वेस्टइंडीज और साउथ अफ्रीका के साथ हुई T20 सीरीज में धोनी नहीं खेले। धोनी के ब्रेक पर रहने के बीच टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी पर गंभीर बयान दिया है। गंभीर ने कहा कि 'चयनकर्ताओं को धोनी से पूछना चाहिए कि उनकी फ्यूचर प्लेनिंग क्या है क्योंकि यदि आप भारत के लिए खेलते हैं तो आप अपने हिसाब से सीरीज का चुनाव नहीं कर सकते।'

राजधानी दिल्ली में स्प्रे-मूव के फिट इंडिया मूवमेंट के साथ जु़ड़ने के अवसर पर आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में जब गंभीर से धोनी के रिटायर्मेंट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि 'मैंने हमेशा से कहा है कि सन्यास लेने का फैसला हर किसी का निजी फैसला होता है।' गंभीर ने कहा कि 'सैलेक्टर्स को धोनी से बात करनी चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि उनकी फ्यूचर प्लेनिंग क्या है क्योंकि यदि आप भारत के लिए खेलते हैं तो आप अपने हिसाब से सीरीज का चुनाव नहीं कर सकते।'

ऋषभ पंत का किया बचाव
टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत इन दिनों फॉर्म से बाहर हैं। साउथ अफ्रीका के साथ हुई T20 सीरीज में भी उनका परफॉरमेंस कुछ खास नहीं रहा। इस पर गंभीर ने पंत का बचाव करते हुए कहा कि 'किसी भी युवा खिलाड़ी के ऊपर इस तरह का फोकस करेंगे तो उसे परेशानी होगी। अभी उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक-डेढ़ साल ही हुआ है और इतने में ही वो टेस्ट में दो शतक जमा चुके हैं।' उन्होंने कहा कि 'यदि आपको उनके शॉट सेलेक्शन से परेशानी होती है तो ये उनका खेल यदि आप उन्हें सेलेक्ट कर रहे हैं तो फिर आपको उनका साथ देना चाहिए क्योंकि एक युवा खिलाड़ी की इतनी आलोचना सही नहीं है।'

बुमराह की खलेगी कमी
टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह चोटिल हैं जिस कारण वो 2 अक्टूबर से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में नहीं खेल सकेंगे। टीम में बुमराह के ना होने पर गंभीर ने दुख जताते हुए कहा कि 'वह टेस्ट में नंबर-1 बॉलर हैं। उनकी कमी निश्चित तौर पर खलेगी। इससे मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा को तीन टेस्ट मैच खेलने का मौका भी मिलेगा। बुमराह किसी भी टीम के लिए कि बड़ा खतरा है और वो टीम में नहीं है इसका बहुत बड़ा प्रभाव पड़ेगा।'

खबरें और भी हैं...