comScore

Ind vs Eng: कोहली ने खराब बल्लेबाजी को लेकर चिंता जाहिर की, मैच के बाद बोले- दोनों टीमों के बल्लेबाजों के पास स्किल्स का अभाव था

Ind vs Eng: कोहली ने खराब बल्लेबाजी को लेकर चिंता जाहिर की, मैच के बाद बोले- दोनों टीमों के बल्लेबाजों के पास स्किल्स का अभाव था

हाईलाइट

  • दोनों टीमों के बल्लेबाजों के पास स्किल्स का अभाव था: कोहली
  • घर में सबसे सफल कप्तान बने विराट
  • 30 विकेटों में से 21 विकेट सीधे गेंदों पर मिले

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद। कप्तान विराट कोहली ने तीसरे टेस्ट में भारत और इंग्लैंड की खराब बल्लेबाजी को लेकर अपनी चिंता जाहिर की, जहां पहली तीन पारियों में दोनों टीम कम स्कोर पर आउट हो गई और मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया डे-नाइट टेस्ट मैच दो दिन में ही खत्म हो गया। 

अपने स्पिन गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को इंग्लैंड को 10 विकेट से हराकर चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 की लीड ले ली।

दोनों टीमों के बल्लेबाजों के पास स्किल्स का अभाव था: कोहली
कोहली ने मैच के बाद कहा कि ईमानदारी से कहूं, तो मुझे नहीं लगता कि दानों टीमों की बल्लेबाजी की गुणवत्ता अच्छी थी। उन्हें पूरी तरह से दरकिनार कर दिया गया टीमों के बल्लेबाजों के पास स्किल्स का अभाव था। गेंद कल अच्छी तरह से आ रही थी और गेंद मुड़ रही थी और पहली पारी में बल्लेबाजी के लिए यह एक अच्छी विकेट थी। दोनों टीमों की बल्लेबाजी खराब थी।

घर में सबसे सफल कप्तान बने विराट
कोहली ने भारत में बतौर कप्तान सर्वाधिक टेस्ट मैच जीतने के मामले में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है। कोहली ने जहां देश में अब तक 29 मैचों में कप्तानी की है वहीं धोनी 30 मैचों में कप्तान रहे हैं। कोहली ने बतौर कप्तान अपने देश में अब 22 टेस्ट मैच जीते हैं, जबकि धोनी के नाम घर में 21 जीत हैं।

30 विकेटों में से 21 विकेट सीधे गेंदों पर मिले
कोहली ने कहा कि यह विचित्र था कि 30 विकेटों में से 21 विकेट सीधे गेंदों पर मिली। यह एकाग्रता में चूक था। यही टेस्ट क्रिकेट है-यह बल्लेबाजों का खुद को पर्याप्त रूप से लागू नहीं करने का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।

गुजरातियों और बाएं हाथ के स्पिन के साथ क्या है मुझे नहीं पता: कोहली
कोहली ने कहा कि तीसरे टेस्ट में 70 रन पर 11 विकेट लेने वाले अक्षर पटेल, रवींद्र जडेजा की तुलना में बहुत तेज गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने कहा कि जब जड्डू (रवींद्र जडेजा) चोटिल हो गए थे, तो बहुत से लोगों को राहत मिली होगी, लेकिन यह (अक्षर पटेल) आते हैं और जडेजा की तुलना में तेजी से गेंदबाजी करते है। मुझे नहीं पता कि गुजरातियों और बाएं हाथ के स्पिन के साथ क्या है।

अश्विन एक मॉडर्न लीजेंड हैं: कोहली
कप्तान ने टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले रविचंद्रन अश्विन को लेकर कहा कि अश्विन ने जो योगदान दिया है उस पर हम सभी को खड़े होने और गर्व करने की जरूरत है। मैंने उससे कहा कि मैं उन्हें आज से लीजेंड कहूंगा। वह एक मॉडर्न लीजेंड है।

कमेंट करें
PKwH6