comScore

बांग्लादेश के साथ होगा भारत का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच

बांग्लादेश के साथ होगा भारत का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच

हाईलाइट

  • BCB ने मंजूर किया BCCI का डे-नाइट टेस्ट खेलने का प्रस्ताव
  • सहयोग के लिए कोहली को BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा थैंक्स
  • 22 नवंबर को भारत खेलेगा अपना पहला डे-नाइट टेस्ट

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने नवंबर में कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर डे-नाइट टेस्ट खेलने का प्रस्ताव भेजा था। जिस पर BCB ने हामी भर दी है। बांग्लादेश टीम के कोच रसेल डोमिंगो ने कहा कि 'ईडन गार्डन्स स्टेडियम में भारत के खिलाफ एक बड़ा मैच होगा। यह शानदार अवसर है। भारत ने भी अब तक दिन-रात का टेस्ट नहीं खेला है। यह दोनों टीमों के लिए नया है और दोनों को एक दूसरे के करीब लाएगा।' यह पहली बार होगा जब भारत किसी देश के खिलाफ अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेगा।

BCCI अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने BCB द्वारा प्रस्ताव को मानने के लिए बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष और टीम को धन्यवाद कहा है। साथ ही उन्होंने कप्तान विराट कोहली का भी डे-नाइट टेस्ट में सहयोग देने के लिए उनका आभार व्यक्त किया है।

हालांकि इससे पहले तक भारतीय टीम डे-नाइट टेस्ट खेलने से सहमत नहीं थी। साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को एडिलेड में डे-नाइट टेस्ट का प्रस्ताव दिया था, जिसे भारत ने ठुकरा दिया था। उस समय कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री ने BCCI के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी के इस प्रस्ताव पर असहमति जताई थी।

बांग्लादेश के राजीनामे से पहले सौरव ने BCCI अध्यक्ष पद संभालने के बाद डे-नाइट टेस्ट खेलने को लेकर विराट कोहली को मना लिया था। सौरव ने शुक्रवार को कहा था कि 'डे-नाइट टेस्ट में विश्वास रखता हूं। कोहली भी इसके लिए सहमत हैं। ऐसी खबरें आ रहीं थी कि वे डे-नाइट टेस्ट नहीं खेलना चाहते, जो कि सही नहीं है। जब देश का कप्तान सहमत हो जाता है, तो चीजें आसान हो जाती हैं। हम देखेंगे कि इसे कैसे आगे बढ़ाना है।’

वहीं सौरव ने हमेशा से पिंक बॉल क्रिकेट की वकालत की है। जब वह 2016-17 में तकनीकी समिति के सदस्य थे, तब भी उन्होंने घरेलू क्रिकेट में भी पिंक बॉल के उपयोग की सिफारिश की थी। उन्होंने उसी समय डे-नाइट मैच की वकालत की थी। सौरव के मुताबिक डे-नाइट मैच से टेस्ट क्रिकेट को ज्यादा से ज्यादा दर्शक मिल सकेंगे। अभी दक्षिण अफ्रीका के साथ रांची में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के बाद भारतीय कप्तान कोहली ने दर्शकों की कम संख्या को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। कोहली ने इसके बाद भारत में पांच टेस्ट सेंटर बनाए जाने की बात कही थी।

कमेंट करें
Uqbwu