दैनिक भास्कर हिंदी: चेन्नई के मैदान पर पहले भी ये तीन विदेशी खिलाड़ी मार चुके हैं दोहरा शतक, रूट ने तोड़ा 35 साल पुराना एक रिकार्ड 

February 6th, 2021

हाईलाइट

  • इस मैदान पर सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी बन गए रूट
  • चेन्नई के इस मैदान पर विदेशी खिलाड़ी के रूप में सर्वोच्च स्कोर बनाने का रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया के दिवंगत बल्लेबाज डीन जोंस (डीनो) के नाम था,
  • इंग्लैंड के माइक गेटिंग 1985 में 207 रनों की और आस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन साल 2001 में इस मैदान पर 203 रनों की पारी खेल चुके हैं।

 चेन्नई  (आईएएनएस)। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट चेन्नई के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले विदेशी खिलाड़ी बन गए हैं। रूट ने भारत के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को चायकाल के बाद यह उपलब्धि हासिल की। रूट इंग्लैंड की पारी के 148वें ओवर में जसप्रीत बुमराह की गेंद पर सिंगल लेकर इस मैदान पर सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी बन गए। रूट ने जैसे ही अपनी पारी का 211वां रन बनाया, वैसे ही उन्होंने यह उपलब्धि हासिल कर ली।

रूट से पहले, चेन्नई के इस मैदान पर विदेशी खिलाड़ी के रूप में सर्वोच्च स्कोर बनाने का रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया के दिवंगत बल्लेबाज डीन जोंस (डीनो) के नाम था, जिन्होंने 1986 में 210 रनों की पारी खेली थी। उनके अलावा इंग्लैंड के माइक गेटिंग 1985 में 207 रनों की और आस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन साल 2001 में इस मैदान पर 203 रनों की पारी खेल चुके हैं।

कप्तान जोए रूट (218) के करियर के पांचवें दोहरे शतक की बदौलत इंग्लैंड ने यहां एमए चिदम्बरम स्टेडियम में मेजबान भारत के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार का खेल समाप्त होने तक अपनी पहली पारी में आठ विकेट पर 555 रन बना लिए। स्टंप्स के डोमिनिक बैस 84 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 28 और जैक लीच 28 गेंदों पर एक चौके के सहारे छह रन बनाकर नाबाद लौटे। दोनों बल्लेबाजों के बीच नौवें विकेट लिए अब तक 30 रनों की साझेदारी हुई है। भारत की ओर से इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन और अपना पदार्पण टेस्ट खेल रहे शाहबाज नदीम को दो-दो विकेट मिले हैं। इंग्लैंड की ओर से रूट ने 377 गेंदों पर 19 चौके और दो छक्के लगाए।  

रूट पहले ऐसे क्रिकेटर बन गए हैं, जिन्होंने अपने 98वें, 99वें और 100वें टेस्ट मैचों में शतक जमाया है। रूट के टेस्ट करियर का यह अब तक का 20वां और इस साल तीसरा शतक है। उन्होंने इससे पहले दो शतक श्रीलंका दौरे पर लगाया था। रूट साथ ही तीसरे ऐसे क्रिकेटर्स बन गए हैं, जिन्होंने अपना पहला और 100वां टेस्ट एक ही देश के खिलाफ खेला है। रूट ने भारत के खिलाफ ही 2012 में नागपुर टेस्ट में पदार्पण किया था। रूट से पहले वेस्टइंडीज के कार्ल हूपर और भारत के कपिल देव भी अपना पहला और 100वां टेस्ट एक ही देश के खिलाफ खेल चुके हैं।

खबरें और भी हैं...