• Dainik Bhaskar Hindi
  • Cricket
  • The mountain of sorrows broke on Vishnu Solanki, lost the father after the daughter, but did not leave the team

बेटी के बाद पिता ने कहा अलविदा: पिता के निधन के बावजूद मैदान में टीम के साथ डटा रहा ये खिलाड़ी, वीडियो कॉल के जरिए पिता के अंतिम संस्कार में हुआ शामिल

February 28th, 2022

हाईलाइट

  • विष्णु भुवनेश्वर में चंडीगढ़ के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच खेल रहे है

डिजिटल डेस्क, भुवनेश्वर। रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा के लिए खेलने वाले विष्णु सोलंकी की वर्तमान स्थिति पर राहत इंदौरी की यह लाइन बिल्कुल सटीक बैठती है,

'कि सूरज सितारे चांद मेरे साथ में रहे,

जब तक तुम्हारे यह हाथ मेरे हाथ में रहे

और शाखाओं से टूट जाए वो पत्ते नहीं है हम,

आंधियो से कोई कह दे,औकात में रहे'

दो दिन पहले ही अपनी नवजात बेटी को खोने वाले विष्णु सोलंकी के पिता का भी निधन हो गया। लेकिन इस जांबाज का क्रिकेट के लिए प्यार देखिये कि पिता के अंतिम संस्कार में ना जाकर उसने अपनी टीम का साथ देना ज्यादा जरुरी समझा।  

आपको बता दे वह भुवनेश्वर में चंडीगढ़ के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच खेल रहे थे। इस बारे में जब उन्हें पता चला तो उन्होंने अपने घरवालों से कहा कि वह मैच के बाद पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे, लेकिन देर होने के कारण उनके पिता का अंतिम संस्कार कर दिया गया। विष्णु ने वीडियो कॉल के जरिये अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।

बड़ौदा टीम के मैनेजर ने विष्णु को पिता के निधन की खबर दी। विष्णु सोलंकी के पिता करीब दो महीने से बीमार थे। उधर टीम मैनेजर ने बताया विष्णु अगर जाने का फैसला भी लेते, तो समय से घर नहीं पहुंच पाते।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, विष्‍णु ने वीडियो कॉल पर ड्रेसिंग रूम के एक कोने में बैठकर पिता का अंतिम संस्‍कार देखा। राज्य संघ के सचिव अजीत लेले ने बताया कि सोलंकी को घर जाने के लिए कहा गया था, लेकिन टीम मैनेजर से विष्णु ने कहा कि वह रुकना चाहते हैं।

मैच में शतक जड़ चुके हैं विष्णु 

पिता के निधन से पहले विष्णु सोलंकी की बेटी भी खराब सेहत के कारण इस दुनिया को छोड़ कर चली गई थी। लेकिन अपनी बेटी का अंतिम संस्कार करने के बाद विष्णु मैदान पर लौटे और उन्होंने शतक जमाया। इस दौरान उन्होंने 12 चौकों की मदद से 104 रन बनाए थे। 

बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने उन्हें रियल हीरो बताया है। सौराष्ट्र के लिए खेलने वाले शेल्डन जैक्सन ने उनके लिए ट्वीट कर लिखा, 'मैं जितने खिलाड़ियों को जानता हूं शायद ही कोई इतना टफ प्लेयर हो। मेरी ओर से विष्णु और उनके परिवार को सलाम। मैं चाहूंगा कि अभी ऐसे और शतक उनके बल्ले से निकलते दिखें।'