दैनिक भास्कर हिंदी: क्रिकेट: BCCI के चीफ सिलेक्टर की रेस में शिवरामकृष्णन और वेंकटेश सबसे आगे, अजीत अगरकर ने भी भरा आवेदन

January 25th, 2020

हाईलाइट

  • बीसीसीआई ने एमएसके प्रसाद और गगन खोड़ा की जगह दो नए चयनकर्ताओं के लिए मंगवाए थे आवेदन
  • बीसीसीआई के चीफ सिलेक्टर की रेस में शिवरामकृष्णन और वेंकटेश सबसे आगे
  • मध्य प्रदेश के राजेश चौहान और अमय खुरासिया खोड़ा की जगह के लिए प्रबल दावेदार

डिजिटल डेस्क। भारत के नेशनल सीनियर सिलेक्शन कमिटी के अध्यक्ष के रूप में पूर्व भारतीय क्रिकेटर एमएसके प्रसाद का 40 महीने का कार्यकाल शुक्रवार 24 जनवरी को समाप्त हो गया है। प्रसाद के साथ उनके सहयोगी और केंद्रीय क्षेत्र के चयनकर्ता गगन खोड़ा का कार्यकाल भी समाप्त हो गया है। हालांकि, सीनियर सिलेक्शन कमेटी के बाकी तीन सदस्य सरनदीप सिंह, जतिन परांजपे और देवांग गांधी कमेटी में बने रहेंगे। इनका कार्यकाल 2020 के आखिर में खत्म होगा। अब शनिवार से BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) की नियुक्ति करेंगे जो एमएसके प्रसाद और गगन खोड़ा के रिप्लेसमेंट पर फैसला लेगी। 

यह खबर भी पढ़ें - भारत ने पहले टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-0 की बढ़त

भारत के पूर्व खिलाड़ी लक्ष्मण शिवरामकृष्णन और वेंकटेश प्रसाद एमएसके प्रसाद की जगह लेने की रेस में सबसे आगे हैं। वहीं पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज अजीत अगरकर ने भी चीफ सिलेक्टर के पद के लिए आवेदन भरा है। मध्य प्रदेश के राजेश चौहान और अमय खुरासिया दोनों गगन खोड़ा की जगह के लिए प्रबल दावेदार हैं। 

यह खबर भी पढ़ें - न्यूजीलैंड-ए ने दूसरे अनऑफिशियल वनडे मैच में इंडिया-ए को 29 रन से हराया, सीरीज में 1-1 से बराबरी की

अगर प्रसाद की दोबारा नियुक्ति होती है तो उनका सिर्फ डेढ़ साल का कार्यकाल रहेगा। जबकि शिवरामकृष्णन नियुक्त होते हैं तो उनका पूरा तीन साल का कार्यकाल रहेगा। बीसीसीआई संविधान के अनुसार, कोई भी व्यक्ति किसी समिति में पांच साल से अधिक समय तक नहीं रह सकता है। 

27 जनवरी को होगी नियुक्ति
बीसीसीआई को दो चयनकर्ताओं को चुनने के लिए एक क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) की नियुक्ति करनी होगी और इसका फैसला 27 जनवरी को नई दिल्ली में लिया जाएगा। जहाँ पदाधिकारी आईपीएल गवर्निंग काउंसिल से बैठक के लिए मिलेंगे ।

सेलेक्टर पद के लिए बीसीसीआई की शर्तें
बीसीसीआई की शर्तों के मुताबिक, वही खिलाड़ी टीम इंडिया का सेलेक्टर बन सकेगा, जिसके पास कम से कम 7 टेस्ट या 30 प्रथम श्रेणी का अनुभव हो। इसके अलावा वे खिलाड़ी भी आवेदन कर सकेंगे, जिन्होंने 10 वनडे और 20 प्रथम श्रेणी मैच खेलें हों। साथ ही आवेदक को संन्यास लिए कम से कम 5 साल हो चुके हों। नेशनल सिलेक्शन कमेटी का सदस्य बनने वाले खिलाड़ी की उम्र 60 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

आवेदन करने वाले पूर्व क्रिकेटरों के नाम 

  • अजित अगरकर (मुंबई)
  • वेंकटेश प्रसाद (कर्नाटक)
  • चेतन शर्मा (हरियाणा)
  • नयन मोंगिया (बड़ौदा)
  • लक्ष्मण शिवरामकृष्णन (तमिलनाडु)
  • राजेश चौहान (मध्य प्रदेश)
  • अमय खुरासिया (मध्य प्रदेश)
  • उत्तर प्रदेश के ज्ञानेंद्र पांडे (योग्य नहीं क्योंकि जूनियर चयनकर्ता के रूप में चार साल पूरे कर चुके हैं)
  • विदर्भ के प्रीतम गंधे (जूनियर राष्ट्रीय चयनकर्ता रह चुके हैं)

 

खबरें और भी हैं...