दैनिक भास्कर हिंदी: राठौर बनेंगे टीम इंडिया के नए बैटिंग कोच; अरुण, श्रीधर का पद पर बने रहना तय

August 23rd, 2019

हाईलाइट

  • चयन समिति ने विक्रम राठौर को बैटिंग कोच के लिए शॉर्टलिस्ट किया है
  • पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज राठौर अब संजय बांगर की जगह लेंगे
  • भरत अरुण और श्रीधर का अपने पद पर बने रहना लगभग तय है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय सीनियर चयन समिति ने विक्रम राठौर को टीम इंडिया के बैटिंग कोच के लिए शॉर्टलिस्ट किया है। वह चयनकर्ताओं की पहली पसंद है। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज राठौर अब संजय बांगर की जगह लेंगे। जबकि भरत अरुण और श्रीधर का अपने पद पर बने रहना लगभग तय है। वर्तमान में अरुण भारतीय टीम के बॉलिंग कोच है जबकि श्रीधर फिल्डिंग कोच।

चयन समिति ने अपने बीसीसीआई मुख्यालय में टीम का सपोर्ट स्टाफ चुनने के लिए उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया। एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय सीनियर चयन समिति में प्रसाद के अलावा, शरणदीप सिंह, गगन खोडा और जतिन परांजपे शामिल थे जबकि देवांग गांधी ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये इसमें हिस्सा लिया। चार दिवसीय यह साक्षात्कार सोमवार को शुरू हुआ और यह गुरुवार तक चला।

समिति ने बैटिंग कोच पद के लिए 14 उम्मीदवारों, गेंदबाजी कोच के लिए 12, फील्डिंग कोच के लिए नौ, फिजियोथेरेपिस्ट पद के लिए 16, स्ट्रेंथ और कंडिशनिंग कोच पद के लिए 12 और एडमिनिस्ट्रेटिव मैनेजर पद के लिए 24 उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया।

चयन समिति ने बैटिंग कोच पद के लिए राठौर के अलावा संजय बांगर और मार्क रामप्रकाश को भी शॉर्ट लिस्ट किया है। लेकिन चयन समिति की पहली पसंद राठौर हैं। संजय बांगर दूसरे स्थान पर रहे जबकि इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज मार्क रामप्रकाश तीसरे स्थान पर।

50 वर्षीय राठौर का अंतरराष्ट्रीय करियर कुछ खास नहीं रहा है। उन्होंने 1996 में छह टेस्ट और सात एकदिवसीय मैच खेले हैं। हालांकि डोमेस्टिक क्रिकेट में पंजाब की तरफ से खेलते हुए उनका काफी अच्छा प्रदर्शन रहा है। 2016 तक वह संदीप पाटिल की अध्यक्षता में एक वरिष्ठ राष्ट्रीय चयनकर्ता रह चुके हैं।

बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने संवाददाताओं से कहा, 'विक्रम राठौर के पास पर्याप्त अनुभव है और हम एक कोच के रूप में उन्हें लेकर आश्वस्त हैं। हम उनसे यह घोषणा करने के लिए कहेंगे कि क्या उनका कोई हितो का टकराव (कॉन्फ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट) है?'

गेंदबाजी कोच के लिए अरुण के अलावा पारस म्हाम्ब्रे और वेंकटेश प्रसाद को शॉर्ट लिस्ट किया है, लेकिन इस बात की संभावना पूरी-पूरी है कि अरुण अपने पद पर बने रहेंगे। भारत ए के कोच पारस मम्ब्रे दूसरे और पूर्व गेंदबाजी कोच वेंकटेश प्रसाद तीसरे स्थान पर रहे। अरुण के मामले में, कोई बहस नहीं थी क्योंकि उनके रहते भारतीय गेंदबाजी आक्रमण विश्व स्तर का हो गया है।

सबसे आश्चर्यचकित करने वाला पहलू जॉन्टी रोड्स रहे जिन्हें फील्डिंग कोच के शॉर्टलिस्ट नहीं किया गया। चयन समिति ने फील्डिंग कोच के लिए श्रीधर को अपनी पहली पसंद बताया। श्रीधर के अलावा अभय शर्मा और टी. दिलीप के नामों की शॉर्ट लिस्ट किया गया। इंडिया ए और अंडर-19 फील्डिंग कोच अभय शर्मा दूसरे स्थान पर रहे जबकि टी दिलीप तीसरे स्थान पर रहे।